फिर डिग्गी में मौत:नापासर में फव्वारा लगाने गए युवक का पैर फिसला, डिग्गी में गिरने से मौत

बीकानेरएक महीने पहले

बीकानेर के नापासर में डिग्गी में डूबने से एक युवक की मौत हो गई। वो फव्वारा चालू करने के लिए डिग्गी के पास गया था, लेकिन इस दौरान उसका पैर फिसल गया। 22 साल का ये युवक जितेंद्र जाट था, जिसके दादा लूणाराम ने पुलिस में मर्ग दर्ज कराई है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया, जहां अंतिम संस्कार भी हो गया।

दरअसल, रामसर की रोही के खेत में जितेंद्र काम कर रहा था। इस दौरान खेत में पानी के लिए फव्वारा शुरू करने गया। फव्वारा डिग्गी के पास ही लगा था, जिसे शुरू करते समय उसका पैर फिसल गया। वो डिग्गी में जा गिरा। आसपास कोई नहीं होने के कारण उसे बचाया नहीं जा सका। कुछ देर बाद उसे बाहर निकाला गया। अस्पताल भी ले गए लेकिन डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। डिग्गी में पैर फिसलने के कारण मौतें लगातार बढ़ रही है। पिछले दिनों में लूणकरनसर, खाजूवाला, छत्तरगढ़ सहित अनेक क्षेत्रों में डिग्गी व नहर में गिरने से बड़ी संख्या में मौत हुई है।

गंदा पानी पीने से मौत

उधर, लूणकरनसर में एक बच्चे की मौत गंदा पानी पीने से हो गई। लूणकरनसर के दुलमेरा गांव में दस साल का सहदेव बावरी बकरियां चरा रहा था। इस दौरान उसने वहां रखी एक बोतल से पानी पी लिया। तभी उसकी तबीयत खराब होने लगी। डॉक्टर को दिखाया तो पीबीएम अस्पताल के लिए रैफर कर दिया। यहां उसकी तबियत बिगड़ती चली गई और मंगलवार को उसकी मौत हो गई। अब पुलिस ने मर्ग दर्ज करके जांच शुरू की है।

कंटेंट : विनोद दाधीच, नापासर