खाजूवाला में हुआ हादसा:स्पेलर में हाथ आया, कोहनी से कटकर अलग हुआ 4 घंटे बाद ऑपरेशन, सात घंटे लगे वापस जोड़ने में

बीकानेर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ये फोटो आपको विचलित कर सकती है लेकिन खबर की गंभीरता के लिए दिखाना जरूरी। - Dainik Bhaskar
ये फोटो आपको विचलित कर सकती है लेकिन खबर की गंभीरता के लिए दिखाना जरूरी।

28 केजेडी गांव में 19 वर्षीय युवक मुकेश नायक का हाथ शनिवार को तेल निकालने के स्पेलर में आकर कट गया। दरअसल उसने हाथ में कड़ा पहना था। मशीन में अटकने से हाथ स्पेल हो गया। कोहनी के पास से कटकर बिल्कुल अलग गिर पड़ा। परिजन उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खाजूवाला ले गए। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खाजूवाला में डॉ. खंगार सिंह व नर्सिंगकर्मियों ने प्राथमिक उपचार के बाद मुकेश को गंभीर हालत में पीबीएम रैफर कर दिया।

डॉक्टर ने सतर्कता बरतते हुए आइसबॉक्स में कटा हुआ हाथ रखकर ले जाने को कहा। पीबीएम के ट्रोमा सेंटर पहुंचा तो वहां पर रेस्पांस नहीं मिला। समय बिना गवाए परिजन एक निजी अस्पताल ले गए। वहां सात घंटे ऑपरेशन चला, जिसके बाद हाथ को जोड़ा गया। हालांकि मरीज की स्थिति क्रिटिकल है।

सर्जन डॉक्टर जेके सुथार ने बताया कि कोहनी से 10-15 सेमी ऊपर तक की नसे खिंचकर बाहर आ गई थी। हार्ट के पास नसों को बाइपास कर ब्लड का फ्लो स्टेबलिश किया गया। डॉक्टर ने बताया कि रविवार शाम तक यानी करीब 18 घंटे बाद ही कुछ कहा जा सकता है। यदि नसें स्टेबलिश नहीं हुई तो हाथ को काटना भी पड़ सकता है।

एक-एक मिनट कीमती : कोई अंग कटे तो 4 घंटे में ब्लड फ्लो स्टेबलिश हो जाना चाहिए उसके बाद बढ़ता जाता है खतरा
सर्जन डॉ. जेके सुथार के मुताबिक, 4 घंटे के भीतर कटे पार्ट में ब्लड फ्लो स्टेबलिश हो जाना चाहिए। उसके बाद जोखिम बढ़ता जाता है। बॉडी पार्ट को भी आईस बॉक्स में बिना कोई नुकसान पहुंचे लाना चाहिए। मुकेश के केस में समय थोड़ा ज्यादा लगा। परिवार को हॉस्पिटल आने में करीब 4 घंटे लगे।

भाइयों के झगड़े में एक का कान कटा, रात तक सर्जरी नहीं हुई
नापासर|पारिवारिक विवाद के चलते नौरंगदेसर गांव में दो भाइयों का परिवार ने एक-दूसरे पर जानलेवा हमला किया। दोनों परिवारों ने एक-दूसरे पर ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास भी किया। हमले में छह लोग घायल हो गए। इसमें एक का तो कान कटकर अलग हो गया, उसे गंभीर हालत में पीबीएम हॉस्पिटल के ट्रोमा सेंटर में भर्ती करवाया गया है। नापासर थाने के हेड कांस्टेबल गोकुल चंद मीणा ने बताया कि खातियों के मोहल्ले में शनिवार दोपहर उदारमन खाती और उसके छोटे भाई केसर राम खाती के परिवारों के बीच हुए जानलेवा हमले में बजरंगलाल का एक कान कटकर अलग हो गया।

धारदार हथियारों से एक-दूसरे पर हमले के चलते बजरंगलाल के अलावा पांच अन्य लोगों के सिर और दूसरी जगह पर गंभीर चोटें लगीं। पुलिस ने घटना के दैारान काम में लिए एक ट्रैक्टर को जब्त कर लिया है। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों के नारायणराम और श्रवणराम पूछताछ करती रही।

खबरें और भी हैं...