• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • The Hottest Bikaner In The State, The Temperature Reached 38 Degrees Celsius, The Meteorological Department Expects Rain Today Amidst The Movement Of Clouds

बीकानेर में आखिर बरस ही गए बादल:सबसे ज्यादा तापमान वाले बीकानेर में बारिश ने दी राहत, रिमझिम बारिश से शाम को मौसम हुआ सुहाना, बुधवार को भी ऐसे ही मौसम की उम्मीद

बीकानेर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीकानेर में बादलों की आवाजाही। - Dainik Bhaskar
बीकानेर में बादलों की आवाजाही।

पिछले चौबीस घंटे में बीकानेर राज्य में सबसे ज्यादा गर्म जिला रहा। यहां अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जबकि राज्य के अन्य जिलों में इतनी गर्मी नहीं है। जैसलमेर, बाडमेर और जोधपुर में भी बीकानेर से कम गर्मी का अहसास हुआ। इस बीच मंगलवार सुबह से बादलों की आवाजाही के बाद शनिवार शाम आखिरकार बादलों ने रिमझिम ही सही लेकिन करीब आधा घंटे तक बरसकर मौसम सुहाना कर दिया। तापमान में भी गिरावट दर्ज की जा रही है।

मंगलवार की शाम बीकानेर की एक कॉलोनी में रिमझिम से तरबतर हुई सड़कें।
मंगलवार की शाम बीकानेर की एक कॉलोनी में रिमझिम से तरबतर हुई सड़कें।

बीकानेर में शाम करीब पांच बजे बादलों ने रिमझिम बरसना शुरू किया जो काफी देर तक अनवरत रहा। इस बारिश ने किसानों के लिए फव्वारे का काम किया है। पानी को तरस रही फसलों के लिए ये बरसात जीवनदायी साबित हो सकती है। जिन लोगों ने फसल की बुवाई कर रखी है, उन्हें ही इस बारिश का लाभ मिलने वाला है। अब नई फसल की बुवाई इस बारिश के भरोसे नहीं होगी।

इससे पहले राज्यभर में पश्चिमी राजस्थान में ही सबसे ज्यादा गर्मी का अहसास हो रहा। इसमें भी बीकानेर का पारा सबसे ज्यादा रहा। यहां अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहा तो श्रीगंगानगर में 37.2, जैसलमेर में 37.4, फलौदी में 37.2 डिग्री सेल्सियस रहा। पश्चिमी राजस्थान के ही बाडमेर में 34.1, जोधपुर में 33.6 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा। शाम होते होते बीकानेर में पारा गिरा।

मौसम विभाग की आज सुबह जारी भविष्यवाणी में बीकानेर के अलावा जोधपुर, जैसलमेर, जयपुर, पाली, अजमेर, भीलवाड़ा सहित अनेक क्षेत्रों में बारिश की उम्मीद की जा रही है। बीकानेर में सुबह से ही बादलों की आवाजाही है। बादल सोमवार को भी थे लेकिन बरसे नहीं। दोपहर होते होते बीकानेर में तापमान फिर से बढ़ने लगा है और धूप तल्खी दिखाने लगी है। बादलों का जमावड़ा भी पहले की तुलना में अब कम हो गया है। मौसम विभाग की सुबह की भविष्यवाणी एक बार फिर गलत साबित हो सकती है, जबकि ग्यारह बजे जारी दूसरी भविष्यवाणी में भी मौसम विभाग को बीकानेर में बारिश की उम्मीद बनी हुई है। शहरी क्षेत्र के बजाय ग्रामीण क्षेत्र में अगर बारिश होती है तो किसानों के लिए लाभदायी साबित हो सकती है।

खबरें और भी हैं...