पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय:नई शिक्षा नीति छात्रों की क्षमताओं और कल्पना शक्ति को विकसित करेगी

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नई नीति पर वेबिनार में बोले वक्ता

महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय के आन्तरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ की ओर से मंगलवार को ‘नवीन राष्ट्रीय शिक्षा नीतिः एक परिचर्चा’ विषय पर ऑनलाइन वेबिनार हुई। मुख्य वक्ता महात्मा गांधी अ‌ंतरराष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, वर्धा के कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ल ने कहा कि नई शिक्षा नीति शिक्षा को सेवा के बजाय प्रक्रिया के रूप में देखती है, जो मानव का सम्पूर्ण निर्माण करेगी।

इस शिक्षा में तर्कशीलता, रचनात्मक कल्पनाशीलता, नैतिक मूल्यों का निर्माण मूल भाव में केन्द्रित है। यह मानव की क्षमताओं एवं कल्पना शक्ति को विकसित करेगी। प्रो. शुक्ल ने कहा कि नवीन शिक्षा नीति में शोध गहनता वाले विश्वविद्यालयों तथा शिक्षण गहनता वाले विश्वविद्यालयों को प्राथमिकता पर रखा गया है। एक नियामक प्राधिकरण का प्रावधान किया गया है, जो परस्पर शिक्षा को जोड़ने का कार्य करेगी।

विशिष्ट वक्ता एवं निदेशक, आईक्यूएसी के प्रो. सुरेश कुमार अग्रवाल ने कहा कि बच्चा जिस प्रकार के गुण व अवगुण को बचपन में प्राप्त करता है उसी के आधार पर उसके भविष्य की निर्मिति होती है। यह नीति शिक्षा को संस्कृति से जोडने की संकल्पना से प्रेरित है। विद्यालय स्तर पर 5+3+3+4 पद्वति द्वारा स्कूली शिक्षा का प्रावधान पारम्परिक व वैज्ञानिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखकर किया गया है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनोद कुमार सिंह ने नवीन शिक्षा नीति में पारदर्शी मानकों द्वारा चयन प्रक्रिया तथा शिक्षकों की गरिमा की पुनःस्थापना को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि कृषि विश्वविद्यालय, तकनीकी विश्वविद्यालय अनेक क्षेत्रों में स्टैंड अलोन संस्थानों को बहु-विषयक शिक्षा प्रदान करने वाले बहु-विषयक संस्थान बनाना होगा। कुल सचिव भंवर सिंह चारण ने भी विचार रखे। संचालन आईक्यूएसी की सदस्य डाॅ. अम्बिका ढाका ने किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें