पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • The Patwaris, Who Went To Stop The Boundary Wall Construction On The Transit, Were Kept Seated For 4 Hours By The Supporters, The Tehsildar Did Not Even Go To The Spot.

दीवार निर्माण को लेकर बवाल:गोचर पर चारदीवारी निर्माण रोकने गए पटवारियों को समर्थकों ने 4 घंटे बैठाए रखा, तहसीलदार मौके पर गईं ही नहीं

बीकानेर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मौके पर करीब तीन सौ लोगों की भीड़ की खबर प्रशासन तक भी पहुंची। उसके बाद तहसीलदार ने जाने का फैसला बदल दिया। - Dainik Bhaskar
मौके पर करीब तीन सौ लोगों की भीड़ की खबर प्रशासन तक भी पहुंची। उसके बाद तहसीलदार ने जाने का फैसला बदल दिया।

शरह नथानिया की 27 हजार बीघा से अधिक गोचर भूमि के संरक्षण के लिए चल रहे चार दीवारी निर्माण कार्य को लेकर मंगलवार को बवाल खड़ा हो गया। बीकानेर राजस्व तहसीलदार के निर्देश पर गिरदावर और तीन पटवारियों का दल सुबह नौ बजे गोचर भूमि पर पहुंचा और श्रमिकों को चार दीवारी निर्माण कार्य रोकने को कहा।

अचानक प्रशासनिक अमले को देख मौके पर मौजूद कार्यकर्ता सकते में आ गए। सूचना मिलने पर पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी मौके पर पहुंचे। उनके साथ-साथ गोचर भूमि संरक्षण से जुड़े बिरजू महाराज किराड़ू सहित बड़ी संख्या में लोग भी पहुंच गए।

गिरदावर अनवर अली और पटवारियों को वहीं पर रोक लिया। भाटी के पूछने पर उन्होंने बताया कि तहसीलदार ने मौका निरीक्षण के लिए भेजा है। वे स्वयं भी आ रही हैं। भाटी ने चारों को खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि गोचर भूमि अतिक्रमण की भेंट चढ़ रही है। अवैध खनन हो रहे हैं।

भूमाफिया ने कॉलोनियां काट दीं। तब प्रशासन कहां गया था। हम गायों के संरक्षण का पुनीत कार्य कर रहे हैं तो रुकावट पैदा की जा रही है। उन्होंने यहां तक कह दिया कि चाहे गोलियां चला देना, टैंक भेज देना, मुकदमे करा देना...चार दीवारी का निर्माण नहीं रुकेगा...नहीं रुकेगा। जब एक बजे तक तहसीलदार नहीं पहुंचीं तो टीम लौट गई।

भाटी सहित करीब 300 कार्यकर्ता शाम तक तहसीलदार का इंतजार करते रहे। करीब पांच बजे भाजपा नेता विजय उपाध्याय ने तहसीलदार को फोन किया तो उन्होंने बताया कि वे फील्ड में हैं। गोचर पर नहीं आएंगी। उधर, गिरदावर ने बताया कि मौके पर चारदीवारी का निर्माण देखा है। अतिक्रमण भी हटाए गए हैं। निरीक्षण की रिपोर्ट तहसीलदार को सौंप दी जाएगी।

गोचर भूमि संरक्षण एवं विकास समिति को चारदीवारी निर्माण के लिए नियमानुसार परमिशन लेने को कहा गया था, जो उन्होंने अब तक नहीं ली है। इसलिए मौका निरीक्षण करने गिरदावर और पटवारियों के दल को भेजा था। इसकी रिपोर्ट कलेक्टर को दे दी गई है।
सुमन शर्मा, राजस्व तहसीलदार

इंफॉर्मेेशन टू इनसाइट

300 कार्यकर्ताओं के सामने 4 घंटे सिर हिलाते बैठे रहे गिरदावर और तीनों पटवारी, भाटी बोले-सरकार ने भूमाफिया क्यों नहीं रोके

कलेक्टर के निर्देश पर तहसीलदार ने गिरदावर और पटवारियों के दल को चारदीवारी निर्माण रोकने के लिए भेजा था। तहसीलदार ने थोड़ी देर में खुद भी पहुंचने की बात कही थी। चूंकि सरकार से गोचर भूमि पर निर्माण के लिए किसी तरह की परमिशन नहीं ली गई इसलिए पटवारियों ने मौके पर पहुंचकर निर्माण कार्य एकबारगी रुकवा भी दिया, लेकिन भाटी को देखते ही उनकी भाषा बदल गई। मौके पर करीब तीन सौ लोगों की भीड़ की खबर प्रशासन तक भी पहुंची। उसके बाद तहसीलदार ने जाने का फैसला बदल दिया।

गोचर पर निर्माण रोकने के लिए राजनीतिक दबाव में है प्रशासन : देवीसिंह

पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी ने कहा है कि जिला प्रशासन राजनीतिक दबाव में है। उन्होंने कहा कि गोचर संरक्षण के लिए प्रशासन को हमारा हौसला बढ़ाना चाहिए था, लेकिन काम रोकने का प्रयास करके समाज में अच्छा संदेश नहीं दिया।

जब उनसे पूछा गया कि राजनीतिक दबाव किसका हो सकता है। तो इशारों में कहा - कोई कंस और रावण होगा, जिसने प्रशासन के माध्यम से संदेश भेजा है। यूआईटी ने मुरलीधर व्यास कॉलोनी में गोचर पर कब्जा करके जमीन बेच दी। चार दीवारी निर्माण की परमिशन के सवाल पर बोले- सरकार तो टाइगर प्रोजेक्ट के लिए परमिशन देगी। बेचारी गाय तो हमारी माता है। समाज को मालिक नहीं मानता प्रशासन।

चारदीवारी के लिए बच्छासर पंचायत से मांगी परमिशन, सरपंच ने कहा- तहसीलदार को आवेदन करें : शरह नथानिया गोचर भूमि संरक्षण विकास समिति ने गोचर भूमि की चार दीवारी बनाने के लिए बच्छासर ग्राम पंचायत को पत्र लिखा था। सरपंच ने इसके लिए तहसीलदार (भू.अ.) के समक्ष आवेदन करने को कहा है।