जल संकट / 15 दिन में सिल्ट निकालने का दबाव इसलिए नहर में उतरी जेसीबी

The pressure of extracting silt in 15 days is why JCB descended into the canal
X
The pressure of extracting silt in 15 days is why JCB descended into the canal

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

बीकानेर. बीकानेर शहर के आधे क्षेत्र में जल आपूर्ति करने वाले शोभासर जलाशय को इंदिरा गांधी नहर की गजनेर लिफ्ट से पानी मिलना बंद हो गया है। इसलिए नहर अभियंताओं पर दबाव है कि वे 2 सप्ताह में पांचों पंपिंग स्टेशन से सिल्ट निकालने का काम जल्दी पूरा करें। इसीलिए इंदिरा गांधी नहर विभाग ने सिल्ट निकालने का काम सोमवार से ही शुरू कर दिया है।

रविवार की शाम नहर से पानी बंद करने के तुरंत बाद नहर में मशीनें लगा दी गई है। मौके पर देखने से पता लगा की सिल्ट नहर के लेवल के बराबर हो गई है। सिल्ट इतनी जबरदस्त बैठी है कि पानी को आगे बढ़ाना या पंपिंग करना मुश्किल हो गया है। इन्हीं हालातों को देखते हुए नहर विभाग ने नहरबंदी ली है।

अधीक्षण अभियंता विवेक गोयल, एक्सईएन समेत तमाम टीम नहर विभाग की मौके पर रही और सिल्ट निकालने की प्रक्रिया तेज कराई। सबसे पहले पंपिंग स्टेशन के आगे नहर को रेत से पाट दिया गया। ताकि वहां से जेसीबी मशीनें खड़ी होकर सिल्ट निकाल सकें। उसके बाद मशीनों को नहर के अंदर उतारा गया। सिल्ट को नहर के किनारे ही फेंका जा रहा है। फिर भी माना जा रहा है कि पांचों पंपिंग स्टेशन से सिल्ट निकालने में 15 से 18 दिन न्यूनतम लगेंगे।

वह भी तब जब नहर विभाग इस कार्यवाही को लगातार जारी रखें। अधीक्षण अभियंता गोयल ने बताया कि हमारी पूरी कोशिश है कि निर्धारित 2 सप्ताह के भीतर सिल्ट निकालने की कार्यवाही पूरी हो सके। अगर एक या दो दिन ऊपर होते हैं तो हम जलदाय विभाग को इसकी सूचना करेंगे। उल्लेखनीय है कि नहर विभाग ने इसी को देखते हुए नहर बंदी 20 दिन की ली है जो 1 जून से 20 जून तक लागू रहेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना