• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • The Team Was Taken Hostage By The Servants, When The Corporation Commissioner Complained To The DC, The Police Rescued Them, 195 Quintals Of Polythene Worth 24 Lakhs Seized

पॉलिथीन व्यापारी के गोदाम पर छापा:टीम को नौकरों ने बंधक बनाया, निगम कमिश्नर ने डीसी से शिकायत की तो पुलिस छुड़ाकर लाई, 24 लाख की 195 क्विंटल पॉलिथीन जब्त

बीकानेरएक महीने पहलेलेखक: लोकेन्द्र सिंह तोमर
  • कॉपी लिंक
कार्रवाई करती निगम की टीम और मौके पर पहुंची पुलिस । - Dainik Bhaskar
कार्रवाई करती निगम की टीम और मौके पर पहुंची पुलिस ।

नगर निगम ने सोमवार को रानीबाजार गुरुद्वारे के पास एक रिहायशी मकान के अंडरग्राउंड से 195 क्विंटल पाॅलिथीन जब्त की। पाॅलिथीन जब्त करने गए दो कार्मिकों को मकान मालिक के नौकरों ने बंधक बना लिया। डीसी और एसपी को सूचना दी गई तो थाने की टीम पहुंच कर दोनों को छुड़वाया और माल जब्त किया। जब्त पाॅलिथीन की कीमत 24 लाख रुपए आंकी गई। इतनी पॉलीथिन से एक महीने तक पूरे शहर की डिमांड पूरी होती।

दरअसल रानीबाजार में एक मकान के अंडरग्राउंड में प्रतिबंधित पाॅलिथीन का जखीरा पड़े होने की सूचना निगम के सफाई कर्मचारी को मिली। उसने आयुक्त को इत्तला दी। कमिश्नर ने दो कर्मचारियों नेक मोहम्मद और हितेश को मौके पर भेजा। वहां पाॅलिथीन व्यापारी महेन्द्र गुप्ता के नौकरों ने उन्हें अंडरग्राउंड में बंधक बना लिया। कार्मिकों ने जब कमिश्नर को फोन किया तो वो डीसी नीरज के पवन के सामने थे। डीसी ने एसपी से चर्चा की फिर कोटगेट पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को छुड़वाया। इस संबंध में गुप्ता सहित तीन लोगों के खिलाफ 151 में केस दर्ज किया गया। शाम को ही तीनों को जमानत भी मिल गई।

हनक ऐसी...पॉल्यूशन कंट्रोल की टीम को कार्रवाई रोकने बुला लिया
व्यापारी के यहां पाॅलिथीन जब्ती की कार्रवाई के दौरान कई सिफारिशी फोन आए। बीकानेर के एक विधायक, जयपुर और बीकानेर के अकाउंटेंट, कुछ व्यापारियों ने निगम से लेकर थाने तक पैरवी की। लेकिन तब तक लिखा पढ़ी हो चुकी थी। दरअसल जब पाॅलिथीन जब्त होने लगी तो निगम आयुक्त ने उपायुक्त अलका बुरडक को भेजा। नौ घंटे तक पाॅलिथीन की तुलाई होती रही। शाम तक 195 क्विंटल का आंकड़ा पहुंचा। निगम आयुक्त गोपालराम विरदा ने कहा कि उसी बीच पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के कार्मिकों को व्यापारी ने बुलाया कि ये प्रतिबंधित नहीं है।

इसलिए कुछ पॉलीथिन की चैकिंग होने के बाद तय होगा कि वो जब्त की जाए या नहीं। शहर में पाॅलिथीन की फुटकर कीमत 160 से 180 रुपए प्रति किलो है लेकिन थोक में 12 हजार रुपए प्रति क्विंटल के आसपास है। प्रति दिन शहर में आठ से नौ क्विंटल पाॅलिथीन की मांग हाेती है। महेन्द्र गुप्ता पाॅलिथीन के प्रमुख थोक व्यापारियों में से एक है।

पॉलिथीन प्रतिबंधित फिर भी 500 किलो की खपत राेज
राज्य में एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है। पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले प्लास्टिक के कप-प्लेट, आइसक्रीम, गुब्बारे में इस्तेमाल होने वाली स्टिक जैसी चीजों पर रोक है। 19 जून को भास्कर के रूबरू कार्यक्रम में मेयर ने पॉलिथीन पर सख्ती से कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया था।

सूचना मिलने पर सुबह टीम भेजी थी। हमारे दो कार्मिकों को बंधक बनाया था। पुलिस ने छुड़वाया इसलिए आरोपी को कोटगेट पुलिस ले गई। कोई व्यापारी महेन्द्र गुप्ता है जिसके यहां से 195 क्विंटल पाॅलिथीन जब्त की गई। ये प्रमुख थोक व्यापारियों से एक है। कार्मिकों को बंधक बनाने वाले मामले में भी हम केस दर्ज कराने पर विचार कर रहे हैं। ये राजकीय कार्य में बाधा है। -गोपालराम विरदा, आयुक्त नगर निगम

खबरें और भी हैं...