अब गांवों में होगा ओलंपिक:मशाल बीकानेर के गांवों में पहुंची, कल श्रीडूंगरगढ़ और नोखा में होगा आयोजन

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ओलंपिक की मशाल अब गांव गांव पहुंच रही है। ये ओलंपिक विदेश की धरती पर नहीं बल्कि राजस्थान के गांवों में होंगे। जिसके लिए मशाल भी हर गांव तक पहुंच रही है। खिलाड़ियों को न्यौता दिया जा रहा है, साथ ही तैयारी का संकेत भी दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा के तहत आयोजित होने वाले राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल आयोजित होने वाले है। इसी की मशाल मंगलवार को जिले के खाजूवाला पहुंची। जिला खेल अधिकारी कपिल मिर्धा ने बताया कि बुधवार सुबह साढ़े दस बजे बजे श्री डूंगरगढ़ की भारती निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल एवं सायं 5 बजे नोखा के बाबा छोटू नाथ सीनियर सेकेंडरी स्कूल में कार्यक्रम आयोजित होगा।

यहां खाजूवाला में कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, अधिकारी, स्कूली खिलाड़ी और स्थानीय नागरिक मौजूद रहे। इनमें उपखंड अधिकारी श्योराम, सीबीइओ ओम प्रकाश, विकास अधिकारी राजेंद्र जोईया, तहसीलदार गिरधारी लाल, पीईईओ भूपेंद्र कौशिक, पूर्व सरपंच पद्मा राम, कोच श्रवण कुमार डूडी, एसीबीओ राम प्रताप मीणा, राम गोपाल नायक एवं व्यापार मंडल के अध्यक्ष मोहन लाल मौजूद रहे। इसके बाद यह मशाल पूगल पहुंची। जहां भी इसका भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान उपखंड अधिकारी सीता शर्मा, सीबीईओ ओमप्रकाश प्रजापत, एसीबीओ रामप्रताप मीणा, श्यामसुंदर रामावत, कोच उपमन्यु आर्य एवं स्थानीय खिलाड़ी मौजूद रहे।यह मशाल यहां से लूणकरणसर पहुंची, जहां ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कालू रोड पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें तहसीलदार रामनाथ शर्मा, सीबीईओ रेवतराम, प्राचार्य ताराचंद भोपाल, एसीबीओ वेद प्रकाश कुमावत, उद्योगपति पवन सीवर, व्याख्याता गोपाल पुरोहित, प्रशिक्षक महेंद्र सिंह एवं दिलीप बिश्नोई मौजूद रहे।