• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • The Youths Were In The Race To Become A Police Inspector By Forgery, Eight Were Arrested From Bikaner And Two From Pali On The Report Of SOG Headquarters.

SI भर्ती परीक्षा के आंसर वॉट्सऐप पर शेयर:बीकानेर के निजी स्कूल में पेपर लीक, तीन दिन के एग्जाम में रोज 5 लाख रुपए में सौदा, 3 लाख एडवांस लिए, 2 नाबालिग सहित 10 गिरफ्तार

बीकानेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीकानेर के नया शहर थाने में गिरफ्तार आठ युवक, दो नाबालिग हैं। - Dainik Bhaskar
बीकानेर के नया शहर थाने में गिरफ्तार आठ युवक, दो नाबालिग हैं।

पुलिस सब इंस्पेक्टर बनने के लिए फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) के इनपुट पर बीकानेर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। 2 नाबालिगों के साथ ही 10 युवकों को गिरफ्तार किया गया है। बीकानेर के अलावा दो युवकों को पाली से गिरफ्तार किया गया है। तीन दिन के एग्जाम के लिए समय से पहले पेपर लीक करने को 15 लाख रुपए में सौदा हुआ और 3 लाख एडवांस लिए गए।

ऐसे चला घटनाक्रम

बीकानेर के रामपुरा में स्थित प्राइवेट स्कूल रामसहाय आदर्श सेकेंडरी स्कूल में सोमवार को SI की परीक्षा होनी थी। कुछ युवकों ने मिलकर पेपर निकालकर उसके जवाब वॉट्सऐप पर जारी करने की योजना बना ली। स्कूल सचिव दिनेश सिंह चौहान ने इस काम के लिए हर रोज पांच लाख रुपए मांगे थे और तीन लाख रुपए एडवांस में भी ले लिए। योजना के तहत पेपर निकालकर दिनेश सिंह ने राजाराम विश्नोई के मोबाइल से फोटो खींचे और उसी के नंबर से वॉट्सऐप से युवक नरेंद्र खींचड़ को शेयर किए। नरेंद्र खींचड़ ने कोचिंग देवे वाले एक टीचर नरेशनदान चारण को पेपर भेज दिए।

फिर ऐसे चला नकल का खेल

बीकानेर से एसआई की परीक्षा दे रहे दिनेश बेनीवाल, नरेंद्र खीचड़ सहित सुरेश कुमार विश्नोई, राजाराम विश्नोई, विकास विश्नोई, दो नाबालिग, स्कूल सचिव दिनेश सिंह चौहान, कोचिंग टीचर नरेशदान चारण इस पूरे प्रकरण में शामिल थे। राजाराम विश्नोई के मोबाइल से खींचे गए पेपर के फोटो नरेंद्र खींचड़ ने चारण सहित इन सभी स्टूडेंट्स व नाबालिग के साथ मिलकर हल किए। इसके बाद जैसे-जैसे पेपर हल हो रहे थे, उनके आंसर परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को वॉट्सऐप के जरिए शेयर किए जा रहे थे। परीक्षा से पहले पेपर लीक के इस प्रकरण में इन सभी 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन्होंने कितने अभ्यर्थियों को पेपर लीक किए और उनसे कितने-कितने पैसे लिए, इसकी जांच की जा रही है। बताया जा रहा है कि हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों के पास पेपर लीक होकर वॉट्सऐप के जरिए पहुंच गया। हालांकि इसकी जांच करने में अभी समय लगेगा।

गिरफ्तार दस में दो नाबालिग

स्कूल संचालक दिनेश सिंह चौहान व टीचर नरेश दान चारण के अलावा मुरलीधर व्यास कॉलोनी के दिनेश बेनीवाल, सुरेश बिश्नोई निवासी बज्जू, राजाराम गोदारा निवासी बज्जू, विकास सारण निवासी मिठड़िया बज्जू, विकास बिश्नोई माणकासर और राजाराम उर्फ राजा बिश्नोई निवासी मुरलीधर व्यास नगर को गिरफ्तार किया गया है। इनके अलावा दो नाबालिग को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इनके नाम उजागर नहीं किए। ये सभी पेपर निकालने, पेपर के उत्तर निकालने के साथ ही अभ्यर्थियों तक पहुंचाने की साजिश में जुटे थे।

भारी पुलिस जाब्ता लगा

बीकानेर में एसआई परीक्षा के दौरान नकल रोकने के लिए भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया गया है। परीक्षा केंद्रों के बाहर भी नकल सामग्री पर कड़ी नजर रखी गई है। राज्यभर में लगातार तीन दिन तक एसआई की परीक्षा होगी। तीनों ही दिन पुलिस और एसओजी की कड़ी नजर नकल करने वालों पर रहेगी।

टीम में ये रहे शामिल

नया शहर थानाधिकारी गोविन्द सिंह चारण ने बताया कि इस टीम में उप निरीक्षक चंद्रजीत सिंह भाटी, एएसआई रामकरण सिंह के अलावा हेड कांस्टेबल अब्दुल सत्तार, कानदान सांधू, दीपक यादव, रामचंद्र, कांस्टेबल वासुदेव, सवाई सिंह, बलवीर, रमेश, पूनमचंद और अमर सिंह शामिल थे।

ड्राइवर व 12वीं पास युवक SI भर्ती में डमी कैंडिडेट:जयपुर में एसआई परीक्षा देने पहुंचे 7 फर्जी अभ्यर्थी, एक लाख रुपए और मोबाइल जब्त; कितने में डील हुई, पुलिस को पता नहीं

खबरें और भी हैं...