पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Three Dead Deer Were Being Carried On Bullock Cart, Two Were Handed Over To The Forest Department, The Matter Of Continuous Hunting Reached The Forest Minister

लूणकरनसर में हिरण शिकार पर विवाद:बैलगाड़ी पर तीन मृत हिरण ले जा रहे थे, तीन को वन विभाग के हवाले किया, शिकार का मामला वनमंत्री तक पहुंचा

बीकानेर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैलगाड़ी पर मिले तीन हिरणों के शव। - Dainik Bhaskar
बैलगाड़ी पर मिले तीन हिरणों के शव।

लूणकरणसर क्षेत्र में गत चार पांच दिनों से लगातार संदिग्ध अवस्था में हिरण मृत अवस्था में मिल रहे हैं। पिछले दिनों सौर ऊर्जा संयंत्रों के पास मृत मिले हिरणों के बाद अब बैलगाड़ी पर बड़े आराम से मृत हिरण ले जा रहे दो युवकों को वनप्रेमियों ने रोक लिया।

इन्हें फिलहाल वन विभाग के हवाले किया गया है। जिसने मृत हिरण भेजे थे, उससे भी पूछताछ हो रही है। अब ये मामला वन मंत्री तक पहुंच गया है। हालांकि इस मामले में दूसरे पक्ष ने आरोप लगाया कि दोनों युवकों को गलत फंसाया जा रहा है, वो मृत हरिणों को दफनाने जा रहे थे। देर रात इन लोगों ने लूणकरनसर में वन विभाग कार्यालय के पास धरना दिया।

क्षेत्रीय वन अधिकारी नरेन्द्र कुमार चौधरी ने बताया कि रविवार को सूचना मिली कि रोझा पंचायत के चक 4 डीएलडी में दो युवक बैलगाड़ी पर तिरपाल मे छिपाकर तीन मृत चिंकारा हिरण अपने घर ले जा रहे है। सूचना पर वनरक्षक लेखराम गोदारा, विजयपाल, विजय सिंह व देवेन्द्र सिंह को तुरंत मौके पर भेजा गया। चक 4 डीएलडी की आबादी में एक बैलगाड़ी पर तीन मृत हिरण मिले व ग्रामीणों ने दो व्यक्तियों को बैठा रखा था। इन दोनों युवकों को अब विभाग ने अपने कब्जे में ले लिया है।

वन विभाग टीम ने चक 4 डीएलडी निवासी रमेश सांसी, विनोद सांसी व शिवलाल मेघवाल से पूछताछ शुरू की है।क्षेत्रीय वन अधिकारी चौधरी ने बताया कि मृत हिरणों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा शिकार हुआ या नहीं लेकिन उठाकर ले जाना ही अपराध है। रिपोर्ट आने के बाद FIR दर्ज की जाएगी।कल मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा कर विधिवत रूप से वन विभाग परिसर में दफनाया जाएगा।

वन प्रेमियों में आक्रोश

कांकड़वाला निवासी कालूराम डेलू का कहना है कि अगर इन्होंने शिकार नहीं किया है तो मृत हिरणों को तिरपाल में छिपाकर क्यों ले जाया जा रहे थे? तीन हिरणों को एक साथ कुत्ते नहीं मार सकते। एक वर्ष पहले ही इनको पाबंद किया था कि मृत हिरणों को नहीं उठाएं। हिरण राज्य पशु है इनके शव को तो वन विभाग विधिवत रूप से दफनाता है।

सोशल मीडिया पर हिरणों का शिकार का आरोप

विश्नोई समाज के युवाओं ने हिरणों के शिकार के इस मामले को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इसी आधार पर वन मंत्री सुखराम विश्नोई ने स्थानीय वन विभाग से मामले की पड़ताल करवाई।

शिकार नहीं किया है कुत्तों ने मारा

चक 4 डीएलडी के कुछ लोगों ने वन विभाग को लिखित में दिया। है कि हिरणों का शिकार नहीं किया। चक 4 डीएलडी के शिवलाल मेघवाल ने फोन करके इनको बुलाकर कुत्तों के काटने से मरे हुए तीन मृत हिरण ले जाने के लिए कहा था। बाद में इस पक्ष ने देर रात वन विभाग कार्यालय पर धरना दिया। आरोप लगाया कि दोनों युवकों को गलत फंसाया जा रहा है।

कंटेंट : रामप्रताप गोदारा, लूणकरनसर

खबरें और भी हैं...