पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दोपहर में सूरज तपा, शाम को रिमझिम:बीकानेर में दिनभर नौतपा का असर, शाम को रिमझिम के बाद मामूली राहत, अभी कई दिन अंधड़ की चेतावनी

बीकानेर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीकानेर की गर्मी में एक पार्क के फव्वारे से निकलना पानी भी कबूतरों को ज्यादा राहत नहीं दे पा रहा। - Dainik Bhaskar
बीकानेर की गर्मी में एक पार्क के फव्वारे से निकलना पानी भी कबूतरों को ज्यादा राहत नहीं दे पा रहा।

रविवार को तमतमाते सूरज ने बीकानेर का पारा 45 डिग्री के पार पहुंचा दिया है। हालांकि रात करीब आठ बजे हुई बहुत हल्की रिमझिम ने आंशिक राहत दी है। मौसम विभाग ने अब यहां तेज हवाएं चलने की भी संभावनाएं जताई हैं। पश्चिमी राजस्थान के रेतीले क्षेत्र में जहां लोगों को अगले कुछ दिन अंधड़ से परेशान होना पड़ेगा, वहीं पूर्वी राजस्थान में भी गर्मी बढ़ रही है।

बीकानेर में रविवार को अधिकतम तापमान 44.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य तापमान से 2 डिग्री सेल्सियस अधिक है। रात करीब आठ बजे हुई हल्की रिमझिम के बाद थोड़ी ठंडक का अहसास हुआ। शहर के साथ गांवों में भी बादलों से कुछ राहत बरसी। उम्मीद की जा रही है कि इससे रात का तापमान कुछ गिरेगा। श्रीगंगानगर अभी भी सबसे गर्म जिला बना हुआ है, जहां 46.3 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा। चूरू में 46.1 डिग्री सेल्सियस रहा। बीकानेर संभाग के सभी जिलों में पारा 45 के आसपास होने से जनजीवन भी प्रभावित रहा। मौसम विभाग ने तीन जून तक पश्चिमी राजस्थान के सभी जिलों में तेज गर्मी के साथ अंधड़ की चेतावनी दी है। चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, जैसलमेर, जोधपुर में अगले कुछ दिन तक चालीस से पचास किलोमीटर प्रति घंटे हवा चल सकती है। इस दौरान आंधी चलने से जनजीवन प्रभावित होगा।

वहीं, पूर्वी राजस्थान में अलवर, भरतपुर, बूंदी, धोलपुर, दौसा, जयपुर, कोटा, सीकर, झुंझुनूं में भी तापमान में बढ़ोतरी के साथ तेज हवाओं के चलेगी।

लू की चेतावनी
मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि लू के कारण मौत भी हो सकती है। ऐसे में तेज गर्मी में थकान से बचने की सलाह दी गई है। इस दौरान फसलों पर भी विपरीत असर पड़ सकता है। ऐसे में फसलों को बचाने के लिए वैज्ञानिक खेती करने की जरुरत है।

खबरें और भी हैं...