• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Twelfth Pass Thirty Students Will Get Admission On Merit, Ayurveda College Will Start Only Till Next Session, Where The College Will Open Is Not Decided Yet

बीकानेर में योग एंड नेचुरल कॉलेज नए सत्र से:बारहवीं पास तीस स्टूडेंट्स को मेरिट पर मिलेगा प्रवेश, आयुर्वेद कॉलेज अगले सत्र तक ही शुरू होगा; कहां खुलेगी कॉलेज अभी तय नहीं

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रानी बाजार स्थित इस परिसर में शुरू होगा कॉलेज। - Dainik Bhaskar
रानी बाजार स्थित इस परिसर में शुरू होगा कॉलेज।

बीकानेर में इस साल योग एवं नेचुरोपैथी कॉलेज शुरू हो जाएगा। इसी साल हुई नीट परीक्षा से तीस सीट्स पर एडमिशन हो जायेगा, वहीं अगले साल आयुर्वेद कॉलेज में भी प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो सकती है। दरअसल, इस साल आयुर्वेद कॉलेज के भूमि आवंटन और निरीक्षण प्रोसेस पूरा किया जा रहा है।

इस कॉलेज के लिए हाल ही में नियुक्त कार्यवाहक प्राचार्य डा. पंकज मरोलिया ने बताया कि जमीन आवंटन का काम अभी शेष है। पहले शहर के बीच जमीन आवंटन का प्रयास चल रहा था लेकिन कानूनी दिक्कत आने के कारण ये नहीं हो सकी। इसके बाद जोड़बीड़ में जमीन तय हुई लेकिन वहां भी प्रशासनिक स्वीकृति नहीं मिल पाई है। ऐसे में अब करणी इंडस्ट्रियल एरिया के पास चक गर्बी में दस एकड़ जमीन आवंटन का प्रयास चल रहा है। ऐसे में इस सेशन में आयुर्वेद कॉलेज शुरू नहीं होगा।

योग एवं नेचुरल मेडिकल कॉलेज में होंगे एडमिशन

मरोलिया ने बताया कि बीकानेर में नए सत्र से योग एवं नेचुरल मेडिकल कॉलेज शुरू हो जायेगा। इसमें तीस सीटों पर एडमिशन होगा। जिसमें बारहवीं पास स्टूडेंट्स को एडमिशन मिलेगा। ये डिग्री कोर्स है। बीकानेर में फिलहाल ये कोर्स रानीबाजार स्थित आयुर्वेद विभाग के भवन में प्रथम तल पर शुरू होगा। यहां क्लास रूम तैयार किए जा रहे हैं। साथ ही पढ़ाने के लिए स्टाफ की व्यवस्था की जा रही है।

अगले सेशन में आयुर्वेद कॉलेज

सरकार का प्रयास रहेगा कि अगले सेशन में बीकानेर में आयुर्वेद कॉलेज भी शुरू कर दिया जाये। इसके लए भवन निर्माण के साथ ही दो बार आयुष मंत्रालय से निरीक्षण भी करवाना होगा। राज्य सरकार ने कॉलेज के लिए NOC जारी कर दी है। अब आयुष मंत्रालय से इंस्पेक्शन होना है। भवन निर्माण शुरू होने पर ही इंस्पेक्शन हो जायेगा। कोशिश है कि अगले सत्र में ये कॉलेज शुरू हो जाये।

बीकानेर को मिलेगा लाभ

आयुर्वेद विभाग के उप निदेशक डॉ. रमेश सोनी ने बताया कि प्राकृतिक चिकित्सा का आगे काफी स्कोप है। ऐसे में बारहवीं पास स्टूडेंट्स को इसके लिए प्रयास करना चाहिए। आयुर्वेद कॉलेज भी अगले सत्र तक शुरू करने की उम्मीद की जा सकती है। सरकार ने वित्तीय स्वीकृत जारी कर दी है। स्टाफ भी जल्द ही कॉलेज को मिल जायेगा।

खबरें और भी हैं...