पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

साइबर क्राइम:दो महिलाओं से ऑनलाइन ठगी, बैंक अकाउंट से 1.20 लाख रुपए निकाले

बीकानेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में इन दिनाें ऑनलाइन के जरिए ठगी करने वाले शातिर काफी सक्रिय है। पुलिस ने अभी तक किसी गिराेह काे नहीं पकड़ा है। ऑनलाइन ठगी के दाे मामले बुधवार काे सामने आई। शहर के अलग-अलग एरिया में रहने वाली महिलाओं ने बैंक अकाउंट से रुपए निकालने के दाे मामले बीछवाल थाने में दर्ज करवाए है। गांधी नगर की दीप्ति गाेयल ने पुलिस काे बताया कि चार जनवरी काे किसी अज्ञात मैसेज अथवा लिंक पर रिस्पांस करने के बाद उसके बैंक खाते से तीस हजार रुपए निकल गए।

माेबाइल पर मैसेज आने के बाद उसे मालूम चला। ऐसे ही इंद्रा काॅलाेनी की निकिता ने पुलिस काे बताया कि किसी शख्स ने ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए उसके बैंक खाते से 90 हजार रुपए निकाल लिए। थानाधिकारी मनाेज शर्मा ने बताया कि ठगी के मामले सामने आ रहे है, जिनकी जांच जारी है। ऐसे में लाेगाें काे अब और ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत है।

एक्सपर्ट बता रहे हैं बैंकिंग फ्रॉड से बचने के लिए बेहतरीन टिप्स, इन बातों का ध्यान रखेंगे तो कोई नहीं कर सकेगा आपके साथ धोखाधड़ी

याद रखें पासवर्ड : आपको नेट बैंकिंग पासवर्ड याद कर लेना चाहिए। इसे किसी को भी न बताएं और न ही इसे कहीं लिखकर रखें। नेट बैंकिंग का इस्तेमाल हमेशा अपने कंप्‍यूटर पर सिक्योर नेटवर्क से करना चाहिए।
पेमेंट से पहले चेक करें वेबसाइट : ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते समय साइट के सुरक्षित होने का संकेत भी देख लें, जैसे- ब्राउजर स्टेटस बार पर लॉक आइकॉन या ‘https’ यूआरएल, जहां ‘एस’ उसके सुरक्षित होने की पहचान है। पब्लिक कंप्यूटर या असुरक्षित नेटवर्क से इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करना समझदारी नहीं है। कंप्यूटर की बोर्ड की जगह डिजिटल की बोर्ड का उपयोग करना बेहतर है। इस्तेमाल करने के बाद वेबसाइट से लॉग-आउट करना नहीं भूलें।

बैंक में अपडेट कराएं अपना मोबाइल नंबर : बैंक या क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली संस्था को अपनी पूरी जानकारी देनी चाहिए यानी एड्रेस, मोबाइल नंबर जरूर बताना चाहिए। नंबर बदलने पर बैंक को इसकी जानकारी भी तुरंत दें। इससे बैंक या आपके खाते में किसी भी तरह के बदलाव की सूचना आपको आसानी से भेजी जा सकती है। हर हफ्ते एक बार अकाउंट या क्रेडिट कार्ड अकाउंट चेक करने के साथ ट्रांजेक्शन पर नजर रखना जरूरी है।

बैंक कभी नहीं मांगता ये जानकारियां : बैंक के पास आपकी सभी जानकारी मौजूद होती है और वह कभी ई-मेल से या फोन से आपसे सीवीवी या ओटीपी नहीं मांगता। इस तरह की जानकारी अगर कोई मांग रहा है तो वह खतरे का संकेत है। किसी से भी इस तरह की गोपनीय जानकारी शेयर ना करें।
मोबाइल फोन में डालें एंटी वायरस : वायरस और साइबर अटैक से बचाव में एंटी वायरस बहुत काम आता है। सस्ते या फ्री एंटी-वायरस के लालच में ना आएं। इसे समय-समय पर अपडेट करते रहें। अगर आपको किसी ऐसे ट्रांजेक्शन का पता चलता है जो आपने नहीं किया है, तो तत्काल अपने बैंक से इस बारे में शिकायत दर्ज कराएं।

इन ईमेल से रहें दूर : फिशिंग ईमेल आपको फंसाने के लिए भेजी जाती है। यह बैंक या किसी शॉपिंग वेबसाइट से भेजी हुई लगती हैं। इनके माध्यम से आपकी जानकारी मांगी जाती है। इन लिंक पर क्लिक करते ही नकली वेबसाइट खुल जाती है। आप जैसे ही अपना यूजर आइडी और पासवर्ड दर्ज करते हैं, आपका मोबाइल नंबर, लॉग-इन आइडी, पासवर्ड, डेबिट/क्रेडिट कार्ड संबंधी जानकारी, सीवीवी, बर्थ डेट की चोरी की जा सकती है।

  • ऐसे क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करें, जिसकी लिमिट कम हो। अगर आप डिजिटल वाॅलेट से पेमेंट कर रहे हैं तो ध्यान रखें कि उसमें भी पहले से पैसे ना पड़े हों। जब आप शॉपिंग करें, तभी पेमेंट ट्रांसफर करें।
  • चेकबुक को हमेशा सुरक्षित जगह रखना चाहिए। उसमें साइन किए हुए चेक नहीं रखें। न ही किसी को बिना ब्योरा भरे साइन किया हुआ चेक दें। रिकॉर्डिंग स्लिप पर जारी किए गए चेक का ब्योरा दर्ज करें।
  • एटीएम कार्ड या ऑनलाइन बैंकिंग में किसी फ्रॉड के मामले में अगर तीन दिन के भीतर बैंक को शिकायत कर दी तो आपका पैसा वापस मिल जाएगा।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें