पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान चौपाल:किसानों को अपने परिवार की परवरिश के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ रहा: पूर्व कृषि मंत्री

नोखा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

देश के किसान अपनी खून पसीना बहा कर दूसरे का पेट भरते हैं। उसी किसान को अपने परिवार के परवरिश के लिए दूसरे पर निर्भर रहना पड़ता है। बिहार में किसानों का जब तक विकास नहीं हो पायेगा तब तक बिहार का विकास संभव नही है। उक्त बातें बिहार सरकार के पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह ने नोखा प्रखंड के तिलई गांव में पूर्व विधान पार्षद कृष्ण कुमार सिंह के निवास पर किसान चौपाल में कहीं। दिल्ली में किसान अपने हक के लिए लड़ रहे हैं जो कि वाजिब है, उर्वरक के दाम बढ़ रहे हैं बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा बनाए गए सामान के दाम बढ़ते जा रहे हैं। लेकिन किसानों की फसल की कीमत नहीं मिल रही है।

किसानों की अनदेखी कोई नहीं कर सकता है। हम भी किसान हैं हमारी फसल की कीमत नहीं मिल रही है। अब किसानों को एकजुट होकर अपनी फसल की कीमत के लिए लड़ना होगा उक्त बातें पूर्व विधान पार्षद कृष्ण कुमार सिंह ने कही। इसके लिए बैठक करके किसान अपनी समस्या को रखें और एक दूसरे से अपनी समस्या को लेकर बात करें नहीं तो हमारे किसानी भी छीन ली जाएगी। किसान चौपाल कार्यक्रम में अतुल सिंह, रामजी पासवान, जनेश्वर पासवान, चुनचुन पासवान सहित कई किसान शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...