मासखमण का तप अभिनंदन कार्यक्रम:साध्वी सूरज प्रभा बोली- तप मोक्ष तक ले जाने वाला मार्ग

नोखा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नोखा के जोरावरपुरा तेरापंथ भवन में रविवार को मासखमण तप का अभिनंदन कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत विशेष जप अनुष्ठान से की गई। जोरावरपुरा भवन में विनोद नवलखा 33 की और निशा मरोठी में 9 की तपस्या का अभिनन्दन कार्यक्रम साध्वी सूरजप्रभा के सानिध्य में आयोजित हुआ।

साध्वी श्री ने कहा कि तप करना सरल नहीं, बड़ा ही कठिन कार्य है। अपनी रसना को बस में रखना कोई वीर पुरुष ही यह कार्य कर सकता है। तपस्या कर व्यक्ति मोक्ष गामी बन सकता है। तप से अपनी-अपनी इन्द्रियों पर विजय पाना है। डॉ. लावण्य यशा ने कहा कि तप से व्यक्ति के भीतर पनप रही बीमारियों को दूर भगाया जा सकता है। तप से व्यक्ति खाद्य, संयम करता है।

साध्वी विधि प्रभा, साध्वी नैतिक प्रभा जी ने भी तप की अनुमोदना अपने भावों के माध्यम से प्रेषित की। मरोठी परिवार, नौलखा परिवार और महिला मंडल द्वारा गीतिका का संगान कर तपस्वी का अभिनन्दन किया। महिला मंडल मोनिका बुच्चा ने तप का अभिनन्दन किया। सभा अध्यक्ष भीखम चंद मरोठी, मंत्री निर्मल बुच्चा, विजयराज बैद, बाबूलाल बुच्चा, आदि ने साहित्य द्वारा तपस्वियों का समान किया।

साध्वी प्रमुखा श्री का संदेश वाचन तेयुप अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार बुच्चा के किया। रात्रिकालीन तपनुमोदना में धम्म जागरण का कार्यक्रम रखा गया है। उत्तर कर्नाटक से आए संघ में 160 जनों ने साध्वी सूरजप्रभा के दर्शन किए और मंगल पाठ सुनने के पश्चात गुरु दर्शन के लिए छापर रवाना हुए। कार्यक्रम का संचालन डिम्पल बैद ने किया।

खबरें और भी हैं...