कापरेन और लाखेरी में हुई लूट का खुलासा:मध्यप्रदेश की भिसन गैंग के चार लुटेरे गिरफ्तार, कई वारदातों का खुलासा

बूंदी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कापरेन थाना पुलिस ने बुधवार को लूट, डकैती में शामिल अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा कर मध्य प्रदेश निवासी गिरोह के सरगना समेत 4 हिस्ट्रीशीटर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
कापरेन थाना पुलिस ने बुधवार को लूट, डकैती में शामिल अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा कर मध्य प्रदेश निवासी गिरोह के सरगना समेत 4 हिस्ट्रीशीटर बदमाशों को गिरफ्तार किया है।

बूंदी जिले की कापरेन थाना पुलिस ने बुधवार को लूट, डकैती में शामिल अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा कर मध्य प्रदेश निवासी गिरोह के सरगना समेत 4 हिस्ट्रीशीटर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। बदमाशों की गिरफ्तारी से राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र और कर्नाटक राज्यों की डेढ़ दर्जन से अधिक वारदातों का खुलासा किया गया है। गिरोह के सरगना भिसन सिंह पर इंदौर पुलिस ने 10 हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा है।

एसपी जय यादव ने बताया कि पुलिस ने मध्य प्रदेश के धार जिले में थाना टाण्डा क्षेत्र निवासी बदमाश भिसन सिंह (23) पुत्र जाम सिंह भील, पिंटू भील (25) पुत्र रिछू, अनिल भील (24) पुत्र अण्डू और शेरू भील (23) पुत्र बावला को गिरफ्तार किया है। इंदौर में डकैती के दो प्रकरणों में डेढ़ साल से फरार सरगना भिसन सिंह पर पुलिस ने 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया हुआ है। उन्होंने बताया कि कापरेन और लाखेरी में हुई लूट के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरी लाल के नेतृत्व में एसआईटी टीम गठित की थी। जिसमें चार थानाधिकारी, हेड कॉन्स्टेबल और कॉन्स्टेबल शामिल थे। पुलिस की अलग-अलग टीमों को टास्क दिया गया था। गठित टीमों ने तकनीकी अनुसंधान, सीसीटीवी फुटेज, ऐसे अपराध करने वाली गैंग का पता लगा गैंग के सदस्यों की सूची तैयार कर राजस्थान, मध्यप्रदेश और गुजरात आदि राज्यों से तलाश की।

इसके अलावा राजस्थान और बाहर के राज्यों के 2 दर्जन से अधिक बदमाशों से पूछताछ की गई। 50 से अधिक सीसीटीवी कैमरों का विश्लेषण कर लगभग 8 हजार किलोमीटर की यात्रा तय की गई। जरायम पेशा अपराधियों के गांव में वेश बदल 20 दिन लगातार कैंप कर इन बदमाशों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार बदमाशों से की गई प्रारंभिक पूछताछ में कापरेन थाना क्षेत्र की दो वारदातों, थाना लाखेरी की एक, थाना निंबाहेड़ा चित्तौड़गढ़ की एक, विजयनगर की चार वारदातों, भीलवाड़ा के हमीरपुर रोड व स्वरूपगंज फाटक के पास, टोंक की एक, महाराष्ट्र के वर्धा, चन्द्रापुर अमरावती, सोलाहपुर, कर्नाटक के गुलमर्ग एवं गुजरात के अहमदाबाद, राजकोट व मोरबी की 1-1 वारदातों का खुलासा हुआ है। बदमाश देशभर में चोरी, नकबजनी, डकैती करने के शातिर अपराधी है और घटना के समय मोबाइल का उपयोग नहीं करते हैं। एसपी ने पूरी टीम को नकद राशि और प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित करने की घोषणा की है।