नेशनल की तैयारी:मैट की जगह मिट्‌टी में प्रैक्टिस कर रहीं स्टेट चैंपियन बेटियां

बूंदी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रदेशभर में प्रतिभा दिखाने वाली छात्राएं खेल संकुल के ऐसे मैदान में कर रही हैं नेशनल की तैयारी

हमारे जिले की बेटियों ने कबड्‌डी प्रतियोगिता अंडर-14 में प्रदेशभर में अपनी प्रतिभा दिखाई। यह बेटियां दूसरे जिलों को शिकस्त देकर प्रदेशभर में चैंपियन बनीं। अब यह बूंदी के खेल संकुल में नेशनल की तैयारी में पसीना बहा रही हैं। बेटियों की इस प्रतिभा के बाद भी उनको नेशनल की तैयारी के लिए सुविधा नहीं मिल रही। नेशनल स्तर पर कबड्‌डी मैट पर खेली जाती है, लेकिन ये बेटियां मिट्‌टी में प्रैक्टिस कर रही हैं। ऐसे में नेशनल लेवल पर मैट पर खेलते समय उनका आत्मविश्वास डगमगा सकता है।

इन बेटियों का कहना है कि प्रदेश के खेल राज्य मंत्री हमारे यहां के होने के बाद भी प्रतिभाओं पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पिछले दिनों नैनवां आए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और खेल मंत्री अशोक चांदना ने ग्रामीण ओलिंपिक में चैंपियन रहने वाली प्रतिभाओं के लिए कई घोषणाएं की थी, लेकिन बेटियों की पीड़ा है कि सरकार के किसी मंत्री ने उनसे आकर हाल-चाल तक नहीं पूछा। भास्कर रिपोर्टर खेल संकुल पहुंचा तो बेटियां मिट्‌टी और कंकरों के बीच में प्रैक्टिस कर रही थीं। बेटियों का कहना था कि मिट्‌टी और मैट की प्रैक्टिस में रात-दिन का अंतर होता है। हमने जयपुर, जोधपुर, भरतपुर, सीकर जैसी संभाग स्तरीय टीमों को हराकर प्रदेश में पहला स्थाना पाया था। ऐसे में हमेंे उम्मीद थी कि खेल मंत्री और खेल अधिकारी हमारी सुविधाओं का ध्यान रखेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। छात्रा खिलाड़ियों ने बताया कि हम केंद्रीय विद्यालय से संबंधित हैं। केंद्र में हमारे सांसद ओम बिरला लोकसभा अध्यक्ष हैं, लेकिन उन्होंने भी इस ओर कोई प्रयास नहीं किए।

खबरें और भी हैं...