अनोखी:फ्रांस में छाएगी बूंदी की अनोखी चित्रशैली, प्रदर्शनी 30 जून को

बूंदी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भास्कर खास }बूंदी के चितेरे युगप्रसाद की 40 पेंटिंग्स बनेंगी फ्रांस में दो माह लगने वाली प्रदर्शनी का हिस्सा

चित्रकला की बूंदीशैली देश की सीमाएं लांघकर दुनियां में छा रही है। बूंदी के कलाकार युगप्रसाद की 40 पेटिंग्स एक जुलाई से फ्रांस के मीरामोंट डी ग्वैने में शुरू होने वाली प्रदर्शनी में शामिल हाेगी।सजी-धजी नायिका, पर्यावरण, पक्ष-पक्षियों को फ्रांस के लोग पसंद करते हैं और बूंदी चित्रशैली इन्हीं पर आधारित है। अपने-अपने क्षेत्र के हुनरबाज इस प्रदर्शनी का हिस्सा बनेंगे। भारत से युगप्रसाद को इसमें भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। यह प्रदर्शनी मॉडन आर्ट की आर्टिस्ट ग्वेलाइन बिशन के साथ लगाई जा रही है।

युगप्रसाद अपनी पेंटिग्स तैयार करने में जुटे है, जिन्हें वे कुरियर के माध्यम से फ्रांस भेजेंगे। 30 जून को वे प्रदर्शनी में ऑनलाइन शामिल हाेंगे। कोरोना के कारण विदेशी पर्यटकाें का बूंदी आगमन नहीं हो रहा अन्यथा विदेशियों में बूंदी की चित्रकला शैली को लेकर दीवानगी रही है। वे इसे देखने के बाद सीखने की जिज्ञासा रखते हैं। पिछले साल भी ग्वेलाइन बिशन ने फ्रांस के मोनफ्लानक्विन में प्रदर्शनी लगाई थी, जिसमें युगप्रसाद की 80 पेंटिग्स लगाई गई थी, जिसका काफी अच्छा रिस्पोंस रहा और पेंटिग्स के बिकने से युगप्रसाद को आय भी हुई। पिछले साल मिली सफलता के बाद इस साल फिर ग्वेलाइन बिशन ने एक्जीबिशन लगाने का निर्णय लिया। इस बार प्रदर्शनी मीरामोंट डी ग्वैने में लगने वाली है।

खबरें और भी हैं...