प्रदेश महामंत्री ने शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला को भेजा ज्ञापन:शिक्षकों ने की आधार व जनाधार सत्यापन के काम पर रोक लगाने की मांग

बड़ी सादड़ी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने शाला दर्पण के रिकॉर्ड अनुसार बालकों के नाम ,लिंग ,जन्म दिनांक को आधार और जनाधार कार्ड में सही करवाने, उनके प्रमाणीकरण का आदेश जारी किया है। इसे राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय नागरिक बताते हुए निरस्त करने की मांग की। प्रदेश महामंत्री अरविंद व्यास ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला को ज्ञापन भेजा।

ज्ञापन के अनुसार 11 मई से स्कूलों में छात्रों के लिए अवकाश घोषित हो गए। कई बालक अभिभावकों के साथ बाहर चले गए। ऐसे में अभिभावक से संपर्क नहीं हो पा रहा है। जिला मंत्री प्रकाश चंद बक्शी ने बताया कि 17 मई तक आधार और जनाधार का प्रमाणीकरण कार्य पूर्ण करवाना असंभव होगा। संगठन के प्रदेश सचिव रमेश चंद्र ने बताया कि कक्षा एक से पांच तक के बालकों तथा अन्य कक्षाओं के सभी बालकों को छात्रवृत्ति व अन्य योजनाओं का लाभ नहीं मिलता है । ऐसे बालकों के अभिभावक आधार कार्ड और जनाधार कार्ड नहीं बनाते हैं। इससे प्रमाणीकरण में मुश्किल आ रही है।

जिला अध्यक्ष रमेश चंद्र पुरोहित ने बताया कि शाला दर्पण रिकॉर्ड के अनुसार संबंधित बालक के जन्म प्रमाण पत्र, चिकित्सालय, पंचायत अथवा नगर परिषद से गलत भी जारी हो सकते हैं। ऐसे में शाला दर्पण की सूचनाओं को पूर्णतया सही मानकर प्रमाणीकरण करवाना विधि सम्मत नहीं होगा। गोपाल शर्मा पवन शेखावत ,सभा अध्यक्ष सय्यद मुकर्रम , मंत्री मधु जैन, उपाध्यक्ष नौसर जाट आदि ने आदेश निरस्त करने की मांग की।

खबरें और भी हैं...