गरीब के घर नहीं पहुंची सरकार की योजना:स्कूल छोड़कर मजदूरी से गुजारा कर रहे बच्चे, आवास की राशि का 3 महने से इंतजार

बेगूं2 महीने पहले

बेगूं कस्बे से 3 किमी दूर हरिपुरा गांव के रहने वाले 15 वर्षीय बालक भैंरुलाल नायक 2 साल से पढ़ने नहीं जा रहा है। चौथी कक्षा के बाद वह पढ़ने नहीं गया। वह अपनी मां और छोटे भाई विशाल के साथ मजदूरी करता है। इसी से परिवार के तीनों सदस्यों का गुजारा चलता। अब भैंरुलाल के सामने समस्या यह है कि वह पढ़ें या मजदूरी करें।

जानकारी का अनुसार दौलतपुरा पंचायत के हरिपुरा के भैंरुलाल नायक के पिता कालूलाल नायक की 2 साल पहले मौत हो गई। संतोष देवी के नाम प्रधानमंत्री आवास योजना में मकान स्वीकृत हुआ। पहली किश्त 21 हजार मिली। जिससे काम शुरू हुआ। अब तीन महीने से 45 हजार रुपए की दूसरी किश्त की राशि की नहीं मिली।

पिछले 3 महने से आवास निर्माण कार्य बंद पड़ा है। जानकारी मिली कि इस गांव में गंगा बाई, डाली बाई सहित 4 लोगों को आवास निर्माण की दूसरी किश्त नहीं मिली।

हर मौसम में सहारा केवल छोटी झोपड़ी

भेरुलाल नायक सहित तीन लोग इस छोटी सी तिरपाल ढंकी झोपड़ी में रहने को मजबूर है।सर्दी, गर्मी और बारिश में बिना छत वाली झोपड़ी में यह परिवार रहता है। यहीं पर सोना, चुल्हे पर रोटी बनाना और खाना।

हाल यह है कि तेज हवा से तिरपाल उड़ न जाए इसके लिए तिरपाल पर बड़े बड़े पत्थर रख रखे है। दिन में झोपड़ी की दीवारों के छेद से सूर्य की रोशनी आती है और रात को चीमनी से घर रोशन होता है।

स्कूल नहीं जाने के कारण सरकारी योजनाओं से वंचित

बालक के पिता की मृत्यु के बाद घर में कमाई करने वाला नहीं रहा। अकेली मां की मजदूरी से गुजारा नहीं हुआ तो भेरू और विशाल दोनों बालक मजदूरी करने पर जाने लगे। 2 साल से दोनों बच्चे स्कूल नहीं जा रहे है तो इनका नाम पालनहार योजना में नहीं जुड़ पाया। रसोई गैस कनेक्शन भी नहीं हुआ। इस परिवार को न शिक्षा, पानी, बिजली और न आशियाना। फिर भी सरकार जनकल्याणकारी योजनाएं चला रही है। सरकार के अधिकारी शिविर लगा रहे है,किसी ने सुध नहीं ली।

सचिव को नोटिस जारी

बीडीओ संजय शर्मा ने बताया कि मेरे द्वारा रूटिंग निरीक्षण में पाया कि हरिपुरा निवासी संतोष बाई सहित 3-4 लोगों के आवास निर्माण की दूसरी किश्त नहीं मिली है। जीओ टेक नहीं होने से भुगतान नहीं हुआ। मैंने तुरंत प्रक्रिया पूरी करा दी है।

2-3 दिन में राशि मिल जाएगी। भुगतान में देरीकी लापरवाही पर दौलतपुरा ग्राम विकास अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। दोनों बच्चों का स्कूल नहीं जाना गंभीर मामला है मैंने सीबीईओ को कार्यवाही के निर्देश। बच्चे को स्कूल ड्रेस मैं दूंगा।

खबरें और भी हैं...