इमरजेंसी की 47 साल पूरे, भाजपा ने मनाया काला दिवस:काली पट्टी बांधकर बीजेपी नेताओं ने दिया धरना, बोले- कांग्रेस है लोकतंत्र की हत्यारी

चित्तौड़गढ़2 महीने पहले
इमरजेंसी के विरोध में काला दिवस के रूप में बीजेपी ने किया धरना प्रदर्शन। - Dainik Bhaskar
इमरजेंसी के विरोध में काला दिवस के रूप में बीजेपी ने किया धरना प्रदर्शन।

25 जून 1975 को देश में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाई गई इमरजेंसी को बीजेपी ने काला दिवस के रूप में मनाया। बीजेपी ने पंचायत समिति परिसर में इस मौके पर काली पट्टी बांधकर धरना-प्रदर्शन किया और आपातकाल के दौरान सरकारी ज्यादतियों के बारे में बताया। इधर, बीजेपी युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और भाजपा के प्रदेश मंत्री अशोक सैनी के चित्तौड़गढ़ आने पर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जमकर स्वागत किया।

भाजपा के प्रदेश मंत्री अशोक सैनी ने कहा कि साल 1975 में 25 जून को ही पूरे देश में इमरजेंसी लगाई गई थी। प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार के इशारे पर सरकारी एजेंसियों ने तमाम विपक्षी नेताओं को जेल में डाल दिया था। आम लोगों के अधिकारों पर कैंची चलाई गई थी और जिसने भी विरोध किया उनका बुरा हाल कर दिया। इसे भारतीय लोकतंत्र के काले अध्याय के रूप में याद किया जाता है, इसीलिए बीजेपी हर साल इस दिन को इमरजेंसी के विरुद्ध काला दिवस के रूप में मनाती है।

भाजपा के प्रदेश मंत्री अशोक सैनी के आने पर कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत।
भाजपा के प्रदेश मंत्री अशोक सैनी के आने पर कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत।

कांग्रेस कार्यकर्ता है लोकतंत्र का हत्यारा

प्रदेश मंत्री सैनी ने कहा कि युवाओं को इस काले दिवस के बारे में पता होना चाहिए इसीलिए भाजपा ने यह विरोध-प्रदर्शन किया है। प्रदेश का आर्थिक विकास ठप पड़ा है।