कृषि उपनिदेशक के घर एसीबी ने दी दबिश:आय से ज्यादा संपत्ति का मामला था दर्ज, चित्तौड़ में दो ठिकानों पर ली तलाशी

चित्तौड़गढ़3 दिन पहले
कृषि उपनिदेशक का घर जहां तलाशी ली गई।

एसीबी मुख्यालय के निर्देश पर एसीबी की इंटेलिजेंस इकाई की सूचना पर उपनिदेशक कृषि उद्यान विभाग, डूंगरपुर अजय सिंह शेखावत के जयपुर शहर, चित्तौड़गढ़ और डूंगरपुर में स्थित चार अलग-अलग ठिकानों पर बुधवार को तलाशी अभियान चलाया गया। उनके खिलाफ आय से ज्यादा संपत्ति होने का मामला पाया गया था। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद यह कार्यवाही हुई। यहां चित्तौड़गढ़ में उनके घर और फार्महाउस की तलाशी ली गई। इस दौरान अजय सिंह शेखावत की पत्नी भी फार्महाउस पर मौजूद थी, जो खुद आरोपी है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अतिरिक्त महानिदेशक हेमंत प्रियदर्शी ने बताया कि ब्यूरो मुख्यालय, जयपुर द्वारा उपनिदेशक कृषि उद्यान विभाग, डूंगरपुर अजय सिंह शेखावत के खिलाफ शिकायत मिली थी। जिसके बाद सत्यापन किया गया। सत्यापन में उनके पास आय से ज्यादा संपत्ति होने पर मामला दर्ज किया गया। मामला अजय सिंह शेखावत और उनकी पत्नी दोनों के खिलाफ दर्ज किया गया। अनुसंधान अधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जयपुर ग्रामीण आहत खान के नेतृत्व में और इंटेलिजेंस यूनिट की मदद से अलग अलग टीम गठित की गई। इन टीमों ने जयपुर, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर स्थित उनके चार ठिकानों पर तलाशी ली गई।

अलग-अलग जगहों पर किया इन्वेस्ट

उन्होंने बताया कि प्राथमिक आकलन और अब तक के मिले डाक्यूमेंट्स के हिसाब से अजय सिंह शेखावत और उनकी पत्नी किशन कंवर के बहुत सारी संपत्तियां अर्जित करने का अनुमान है, जो उनकी आय से बहुत ज्यादा है। आरोपी उपनिदेशक ने अपनी वैद्य आय को जयपुर, चित्तौड़गढ़ में अलग-अलग बिजनेस, घर, फ्लैट में, म्यूच्यूअल फंड, इंश्योरेंस और प्लॉट में इन्वेस्ट किया हुआ था।

उपनिदेशक कृषि उद्यान विभाग, डूंगरपुर अजय सिंह शेखावत।
उपनिदेशक कृषि उद्यान विभाग, डूंगरपुर अजय सिंह शेखावत।

भागने की फिराक में थी आरोपी किशन कंवर

चित्तौड़गढ़ में अजय सिंह शेखावत पहले कृषि विभाग में उप निदेशक के पद पर थे। इस दौरान उन्होंने यहां घर और एक फार्महाउस भी खरीदा था। इन दोनों जगहों पर दबिश दी गई। सूचना मिलते ही शेखावत की पत्नी किशन कंवर तुरंत अपने घर को लॉक लगाकर भागने की फिराक में थी। लेकिन मौके पर एसीबी की टीम के पहुंच जाने पर वह भाग नहीं पाई। फिर एसीबी की टीम ने किशन कंवर को लेकर ऊपर गए और तलाशी ली। घर पर तलाशी पूरी होने के बाद किशन कंवर को फार्म हाउस बुलाया गया और वहां पर कार्यवाही शुरू की। बता दे कि किशन कंवर के खिलाफ भी मामला दर्ज है।

पहले भी लगाता पद का दुरुपयोग का आरोप

फार्महाउस पर एसीबी की टीम जब पहुंची तो वहां पर सिर्फ एक चौकीदार ही मिला था। एसीबी ने अपना परिचय देकर अंदर घुसी। उसके बाद किशन कंवर को बुलाया गया। उनके आने के बाद कार्रवाई की गई। यह कार्रवाई सुबह से शाम तक की गई। बता दे कि अजय सिंह शेखावत जब छोड़कर पोस्टेड थे, तब उन पर पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगा था। इसकी जांच भी अभी तक पेंडिंग है। अजय सिंह शेखावत हाईकोर्ट से स्टे ले रखा है जिसके कारण जांच डिले होता जा रहा है।