किसान सम्मेलन से सर्व समाज को जोड़ने की कोशिश:संयोजक सिरोड़ी बोले- राष्ट्र में चल रही टांग खिंचाई, एक दूसरे को समझे परिवार

चित्तौड़गढ़12 दिन पहले
किसान सम्मेलन के जरिए सर्व समाज ने बताई अपनी ताकत।

सर्व समाज को जोड़ने के लिए रविवार को प्रताप फाउंडेशन की ओर से एक किसान सम्मेलन का आयोजन हुआ। किसानों के जरिये सभी वर्गों को एक करने की कोशिश की गई। इस आयोजन में कई जनप्रतिनिधियों के साथ बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहे। इस दौरान किसानों को होने वाली प्रॉब्लम को लेकर चर्चा की गई।

प्रताप फाउंडेशन के संयोजक महावीर सिंह सिरोड़ी ने कहा कि इस मंच के जरिए किसानों के हर समस्याओं के बारे में चर्चा की गई। यह काम तो था ही लेकिन इससे भी बड़ा काम कुछ और था। आजकल परिवार और जातियां उलझ कर रह गए हैं। राजनीति में भी यही है। पूरे राष्ट्र में टांग खिंचाई चल रही है। जो सौहार्द खो दिया वह फिर से जगाना चाहिए। हमारे देश, गांव में एक साथ रहे। झगड़े नहीं। आपस में बैठ कर सौहार्द पूर्ण बात करें। उन्होंने कहा कि किसान वर्ग बहुत बड़ा फर्क होता है वह हमेशा जुड़ कर रहे तो सारा काम हो सकता है। लेकिन आजकल सब बिखर रहे हैं। सब एक दूसरे को परिवार समझे, यही चाहते हैं। भौतिक साधन से सब कुछ नहीं मिलता। आज हम लड़ रहे हैं, उस प्रवृत्ति को खत्म कर भाईचारे का माहौल हो सके, उसके लिए यह आयोजन किया गया।

मंच में बैठे जनप्रतिनिधि।
मंच में बैठे जनप्रतिनिधि।

15 सूत्रीय मांगों पर हुई चर्चा

उन्होंने कहा कि किसान वर्ग कड़ी मेहनत के बावजूद दयनीय स्थिति में है। इसी को लेकर इस किसान सम्मेलन का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि इस सम्मेलन में 15 सूत्रीय मांगों जिसमें केंद्र सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की गारंटी कानून बनाया जाने, अफीम का समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने के साथ तोल केंद्रों पर ही अफीम का परीक्षण कर परिणाम घोषित किया जाए, अफीम उत्पादक कृषको को मार्फिन के आधार पर लाइसेंस देने की प्रक्रिया को बदलने, समर्थन मूल्य पर सभी जिंसों की तुलाई प्रत्येक ग्राम सहकारी समिति के स्तर पर करवाने सहित कई अन्य मांगों पर चर्चा हुई। इन सभी मांगों को हम लोग जिला कलेक्टर की मदद से मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे और वहां से एकत्रित कर प्रधानमंत्री तक पहुंचाएंगे। इस किसान सम्मेलन में चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी, पूर्व यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी, विधायक चित्तौड़गढ़ चंद्रभान सिंह आक्या, चित्तौड़गढ़ अर्बन कोऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन आई एम सेठिया, केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य रेवंत सिंह पाटोदा, ब्रजराज सिंह खारड़ा, जौहर स्मृति संस्थान के तेजपाल सिंह, हर्षवर्धन सिंह रुद मौजूद रहे।