वन विभाग ने तैयार किए 5 लाख 60 हजार पौधे:हाइट के हिसाब से फिक्स होगा रेट

चित्तौड़गढ़2 महीने पहले
वन विभाग की ओर से तैयार किए जा रहे पौधे। - Dainik Bhaskar
वन विभाग की ओर से तैयार किए जा रहे पौधे।

वन विभाग की ओर से मानसून की तैयारियां शुरू हो चुकी है। एक और जहां वन विभाग ने पौधे तैयार करना शुरू कर दिया है। वहीं दूसरी ओर स्टाफ को पौधारोपण करने की ट्रेनिंग भी शुरू कर दी है। इस बार उप वन संरक्षण और वाइल्ड लाइफ को मिलाकर कुल 5 लाख 60 हजार पौधे तैयार किए गए जा रहे हैं। प्रादेशिक वन मंडल में 2425 हेक्टेयर में पौधे लगाए जाएंगे। वाइल्ड लाइफ की दोनों सेंचुरी में 300 हेक्टेयर क्षेत्र में पौधे लगाए जाएंगे।

वन विभाग के 20 नर्सरियों में तैयार हो रहे है पौधे

चित्तौड़गढ़ डीएफओ सुगनाराम जाट ने बताया कि मानसून शुरू होने वाला है। इसे देखते हुए वन विभाग ने पहले से ही पौधे तैयार करना शुरू कर दिया था। जुलाई महीने के पहले हफ्ते से ही पौधे लगाना और पौधे बांटना करना शुरू कर देंगे। उन्होंने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी वन क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाए जाएंगे। प्रादेशिक वन मंडल में 2425 हेक्टर में 5 लाख पौधे लगाए जाएंगे, जबकि वाइल्डलाइफ के बस्सी सेंचुरी और सीता माता सेंचुरी के 300 हेक्टेयर में 60 हजार पौधे लगाए जाएंगे। इसके लिए उपवन संरक्षण के 17 नर्सरियों में और वाइल्डलाइफ के तीन नर्सरियों में यह पौधे तैयार किए जा रहे हैं।

पब्लिक भी ले सकती है पौधे

वन विभाग के वन क्षेत्र के अलावा आम पब्लिक, एनजीओ, इंडस्ट्री और स्कूल वालों के लिए भी अलग से पौधे तैयार कर रहे हैं। इन पौधों के हाइट के हिसाब से इनकी दरें तय की गई है। डीएफओ सुगनाराम जाट ने बताया कि 17 नर्सरियों में कुल मिलाकर 7 लाख 64 हजार 957 पौधे तैयार किए जा रहे हैं। इनमें वन क्षेत्र में लगाने के लिए खैर, बांस, आंवला, चुड़ैल, बेड़ा, करज, बेलपत्र, सालर, गोदल, कढाया, नीम, सिरस, बड़, पीपल, बुलरू और महुआ सहित अन्य कई पौधे तैयार किए जा रहे हैं। जबकि शहरी क्षेत्रों के लिए फलदार, छायादार और सजावटी पौधे तैयार किए जा रहे हैं। इस बार इन पौधों को तैयार करने के लिए विभागीय तौर पर ढाई करोड़ का बजट रखा गया है।

स्टॉफ को ट्रेनिंग करवाते हुए वन विभाग के दोनों अधिकारी।
स्टॉफ को ट्रेनिंग करवाते हुए वन विभाग के दोनों अधिकारी।

पौधों की हाइट के हिसाब से पौधों की कीमत

पौधों की हाइटदर(रुपयों में)
दो फीट5
2 से 3 फीट8
3 से 5 फीट15
5 से 8 फीट40
8 फीट या उससे बड़ा70

नर्सरी जहां पौधे तैयार किए जा रहे है

नर्सरियों के नामपौधेंनर्सरियों के नामपौधें
विजयपुर41775चित्तौड़92309

दूधितलाई

58330

सेमलपुरा

33500
मंगलवाड़63759

हथनीओदी

43274
निंबाहेड़ा10000

बाघपुरा (लाडपुरा)

45000

सांवलियाजी

47488एकलिंगपुरा43868
कपासन44950

बोराव

35159

बेगूं

15000गोपालपुरा24838
पारसोली64690

जावदा

66017

पीपलखेड़ी

35000