एमपी पुलिस की गिरफ्त में भैंसरोडगढ़ का हिस्ट्रीशीटर:शराब कंपनी के ऑफिस से चुराए थे 20 लाख रूपए, सेल्समेन को साथ मिलकर वारदात को दिया अंजाम

रावतभाटा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश के सिंगोली में एक शराब कंपनी के ऑफिस में 20 लाख की चोरी के मामले में भैंसरोडगढ़ थाने का एक हिस्ट्रीशीटर एमपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

सिंगोली थाना प्रभारी आरसी दांगी के अनुसार भैंसरोडगढ़ थाने के हिस्ट्रीशीटर इंदरमल उर्फ इंद्रियां (45) पुत्र रामेश्वर कंजर ने शराब कंपनी के एक कर्मचारी को साथ मिल कर उसी के ऑफिस से 20 लाख रुपए चुराने की वारदात को अंजाम दिया था।

इस मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर 8 लाख रूपए सहित ऑफिस से चुराए दस्तावेज प्राप्त किए। वहीं वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

चोरी करवा कर फरियादी बना कर्मचारी

पुलिस के अनुसार शराब कंपनी में काम करने वाले सिंगोली निवासी कमलेश (22) पुत्र मानसिंह मीणा ने 24 फरवरी को सिंगोली थाने में रिपोर्ट दी थी, जिसमें उसने बताया कि देर रात को अज्ञात बदमाश उसके ऑफिस की अलामारी तौड़ कर 20 लाख रूपए चुरा ले गए। प्रारंभिक पड़ताल में कर्मचारी कमलेश के चोरी में शामिल होने की बात सामने आई। जिस पर पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने भैंसरोडगढ़ थाने के हिस्ट्रीशीटर इंदरमल और अन्य दो साथियों के साथ चोरी की वारदात करना कबूला।

आपस में बांट ली राशि

चोरी के बाद आरोपियों ने चुराई राशि आपस में बांट ली। कर्मचारी कमलेश ने ये राशि अपने भाई रायसिंह मीणा और पिता मानसिंह मीणा को दे दी और पुलिस को झूठी रिपोर्ट देकर गुमराह करता रहा। पुलिस ने कर्मचारी के भाई और पिता को गिरफ्तार कर उसने 8 लाख रुपए बरामद कर लिए। वहीं हिस्ट्रीशीटर इंदरमल के बाकी दो साथियों की तलाश की जा रही है।

लूट और मारपीट सहित 11 केस दर्ज

सिंगोली थाना प्रभारी ने बताया कि धांगड़मऊ का रहने वाला बदमाश इंद्रमल कंजर भैंसरोडगढ़ थाने का हिस्ट्रीशीटर है। जिसका मुख्य काम अवैध शराब बेचना है। भैंसरोडगढ़ थाने से उसका क्राइम रिकॉर्ड मंगवाया। जिसमें उसके खिलाफ लूट, चोरी, मारपीट, अवैध शराब की तस्करी सहित अलग-अलग धाराओं में 11 मुकदमे दर्ज है। जिनमें से कुछ मामलों में उसे सजा भी हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...