विवाहिता से मारपीट कर घर से निकाला:पति ने पेट पर लात मारकर गर्भ गिराया, दहेज मांग रहे ससुराल वाले

चूरू3 महीने पहले
विवाहिता ने महिला पुलिस थाने में पति, सास और ससुर के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कराया है। - Dainik Bhaskar
विवाहिता ने महिला पुलिस थाने में पति, सास और ससुर के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कराया है।

चूरू के खींवासर गांव में विवाहिता को दहेज के लिए प्रताड़ित करने और मारपीट कर घर से निकालने का मामला सामने आया है। विवाहिता ने महिला पुलिस थाना में अपने पति, सास और ससुर के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। विवाहिता ने पति पर आरोप लगाया कि जब वह दूसरी बार गर्भवती हुई तो पति ने पेट पर लात मारकर उसका गर्भ गिरा दिया।

महिला पुलिस थाना के थानाधिकारी सुखराम चोटिया ने बताया कि उसकी शादी पंड्रेउ टिब्बा में गोरखाराम के साथ 2015 में हुई थी। शादी के बाद से ही पति गोरखाराम, सास रेशमी और ससुर श्योराम कम दहेज लाने की बात कहकर उसे प्रताड़ित करने लगे। सभी लोग आए दिन मारपीट कर उसे प्रताड़ित करते और पीहर से 2 लाख रुपए और बाइक लाने की बात कहते। पति भी आए दिन शराब के नशे में उसके साथ मारपीट करता था। 2016 में गर्भवती होने पर ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे घर से निकाल दिया। 23 जुलाई 2016 को उसके बेटा हुआ, लेकिन ससुराल पक्ष से कोई भी मिलने नहीं आया था।

विवाहिता ने बताया कि करीब 2 साल तक वो पीहर में रही। इसके बाद पीहर पक्ष के लोगों ने पंचायती की और ससुराल पक्ष के लोगों को बुलाया तो ससुराल वाले मुझे लेकर गए। लेकिन 7 दिन बाद उन्होंने फिर से दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। विवाहिता ने बताया कि वह दूसरी बार गर्भवती हुई तो उसके पति ने पेट पर लात मारकर गर्भ गिरा दिया। तब गंभीर हालत में पीहर वाले लेकर गए और इलाज करवाया। तब से वो पीहर में ही रह रही है। ससुराल वाले 2 लाख रुपए और बाइक देने पर साथ ले जाने की बात कह रहे हैं। थानाधिकारी ने बताया कि विवाहिता की रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।