कार्यक्रम:विद्यार्थियों की मोबाइल लत ‘चेस इन स्कूल’ कार्यक्रम से छुड़ाएंगे

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती पर 19 नवंबर से ‘चेस इन स्कूल’ कार्यक्रम प्रारंभ होगा। इसके बाद हर महीने के तीसरे शनिवार को ‘नो बैग डे’ के दौरान स्कूलों में शतरंज खेला जाएगा। शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने इसकी घोषणा कर दी है।

डॉ. कल्ला ने बताया कि देश में पहली बार राजस्थान में यह पहल होने जा रही है कि प्रदेश के 60 हजार से अधिक स्कूलों में खेल ग्रांट से चेस बोर्ड अन्य आवश्यक सामग्री खरीदी जाएगी और बच्चों को शतरंज में पारंगत किया जाएगा।

डॉ. कल्ला ने बताया कि शतरंज को पहली बार स्कूली खेलों में शामिल किया गया है। कोरोना काल और उससे पहले भी स्टूडेंट्स मोबाइल से जुड़े रहे हैं, ऐसे में मोबाइल की लत छुड़वाने में भी ये गेम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

खबरें और भी हैं...