• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Churu
  • The Bank Accounts Of 2.49 Lakh Students Of The District Were To Be Linked With Jan Aadhaar By September 15, The Education Department Was Able To Connect In Just One Year.

शिक्षा विभाग की लापरवाही:जिले के 2.49 लाख विद्यार्थियों के बैंक खातों को 15 सितंबर तक जोड़ना था जन आधार से, शिक्षा विभाग एक साल में जोड़ पाया महज

चूरू6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ डीबीटी डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर के जरिए सीधे उनके बैंक खातों में देने की सरकार की योजना शिक्षा विभाग की सुस्ती के कारण आगे नहीं बढ़ पा रही है।

योजना के तहत शिक्षा विभाग को 15 सितंबर तक शत-प्रतिशत विद्यार्थियों के बैंक खाताें को जन आधार कार्ड से जोड़ने का लक्ष्य दिया गया था, मगर जिले में यह लक्ष्य अभी तक मात्र 38.33 प्रतिशत तक ही पहुंच पाया है।

जिले की सात ब्लॉक में कुल एक हजार 435 सरकारी स्कूले हैं, जिनमें दो लाख 49 हजार 963 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। विभाग को इन विद्यार्थियों के बैंक खातों को जन आधार कार्ड से जोड़ना था, मगर करीब एक साल का लंबा समय बीतने के बावजूद अब तक मात्र 95 हजार 835 विद्यार्थियों के खाते ही जन आधार से प्रमाणीकरण हो पाए हैं।

प्रदेश स्तर पर भी हालात कुछ ऐसे ही हैं। प्रदेश के 69 हजार 172 सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत 93 लाख 98 हजार 587 विद्यार्थियों में से अब तक करीब 33 लाख विद्यार्थियों के खाते ही जन आधार कार्ड से जुड़ पाए हैं।

जो कुल लक्ष्य का मात्र 35 फीसदी के करीब हैं। विद्यार्थियों के खाते जन आधार कार्ड से नहीं जुड़ पाने के कारण राज्य सरकार भी डीबीटी योजना को पूरी तरह लागू नहीं कर पा रही है। जिले में ब्लॉक वाइज जन आधार प्रमाणीकरण के मामले में राजगढ़ 53.48 प्रतिशत के साथ टॉप पर हैं, जबकि 31.97 प्रतिशत के साथ रतनगढ़ सबसे पिछड़ा हुआ है।

गत वर्ष अक्टूबर में शुरू हुआ प्रमाणीकरण का कार्य

राज्य सरकार की ओर से अक्टूबर 2021 में शाला दर्पन पोर्टल पर विद्यार्थियों के प्रमाणीकरण मॉड्यूल की शुरूआत की गई थी। पोर्टल के स्कूल लॉगिन पर विद्यार्थी की आधार कार्ड संख्या, जन आधार कार्ड संख्या और बैंक खाते का विवरण संबंधित मॉड्यूल में अपलोड करना था।

लेकिन अब तक करीब 62 प्रतिशत विद्यार्थियों के बैंक खातों से जन आधार लिंक नहीं हो पाए है। शिक्षा विभाग को बैंक खातों को जन आधार कार्ड से प्रमाणीकरण करने में ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा परेशानी उठानी पड़ रही है। क्योंकि गांवों में जागरूकता के अभाव में कई परिवारों के तो जन आधार कार्ड तक नहीं बन पाए है।

दस्तावेजों में कमियों के कारण परेशानी, जल्द शत-प्रतिशत कराएंगे
डीबीटी के तहत विद्यार्थियों के बैंक खातों को जन आधार कार्ड से जोड़ने में दस्तावेजों में कमियों के कारण परेशानी आ रही है। कई विद्यार्थियों के आधार, जन आधार कार्ड में नाम, पिता का नाम, जन्मतिथि आदि में कमियों के कारण वे प्रमाणीकरण नहीं हो पा रहे है, जिनको सुधरवाया जा रहा है।

शत-प्रतिश्त लक्ष्य हासिल करने के लिए पाबंद किया है। पिछड़ने वालों के खिलाफ विभागीय स्तर पर कार्रवाई की जाएगी। संतोष महर्षि, सीडीईओ, चूरू

खबरें और भी हैं...