कर्ज से परेशान हो कर दे दी जान:10 दिन पहले की की थी बेटी की शादी, सुसाइड नोट में लिखा - मेरे घरवालों को परेशान मत करना

सरदार शहर5 दिन पहले

सरदारशहर के वार्ड 45 में शनिवार सुबह शंकरलाल (47) पुत्र गंगाराम ढल्ला सोनी ने कर्ज से परेशान होकर अपने घर में ही फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक ने जब घर पर फांसी लगाई तो घर में कोई नहीं था। मृतक की पत्नी अपने बेटे के साथ पीहर गई हुई थी। मृतक के भतीजे बनवारीलाल के अनुसार जब उसके चाचा शंकरलाल ने फोन नहीं उठाया तो वह उसके घर गया और दरवाजा खटखटाया तो काफी देर तक दरवाजा नहीं खोला। जिसके बाद दरवाजे के ऊपर से झांक कर देखा तो घर के अंदर बने बरामदे में चाचा शंकरलाल फांसी के फंदे से लटका हुआ था।

जिसकी सूचना परिवार के अन्य लोगों को और पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे हेड कांस्टेबल संजय बसेरा ने परिजनों की मौजूदगी में मृतक के शव को फांसी के फंदे से नीचे उतरवाकर निजी एंबुलेंस की सहायता से राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। जहां पर परिजनों की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया। मृतक के भतीजे बनवारीलाल ने पुलिस को रिपोर्ट दी कि उसका चाचा पिछले काफी दिनों से कर्ज के कारण मानसिक रूप से परेशान था।

शनिवार सुबह लगभग 7:30 बजे अपने घर में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। हेड कांस्टेबल संजय बसेरा ने बताया कि मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। जिसमें मृतक ने लिखा है कि वह कर्ज के कारण आत्महत्या कर रहा है। सुसाइड नोट में लिखा कि मैं किसी भी व्यक्ति का नाम नहीं लिखना चाहता। अब अगर मेरे घर वालों को किसी ने परेशान किया तो उसके जिम्मेदार वह खुद होंगे। वही आपको बता दें कि मृतक के एक 18 वर्षीय पुत्र व एक पुत्री है पुत्री की लगभग 10 दिन पहले ही शादी थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...