लंपी से बचाव के लिए दवाई किट वितरित:धार्मिक संस्था ने एक लाख रुपए का किया सहयोग; अब तक बांदीकुई में 1815 गायें हो चुकी हैं संक्रमित

बांदीकुई16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बांदीकुई क्षेत्र में लंपी वायरस तेजी के साथ बढ़ रहा है। यहां अभी तक 1815 गाये लंपी वायरस से ग्रसित हो चुकी है। इनमें करीब 105 की मौत हो चुकी है। यहां औसतन रोजाना 70 से 80 गाये इस रोग से संक्रमित हो रही है। बढते लंपी वायरस को रोकने लिए अब क्षेत्र में भामाशाह भी आगे आने लगे है।

रविवार को मंदिर श्री बाबा हैडाखान महायोग विश्वक्रांति आश्रम ट्रस्ट बांदीकुई ने करीब एक लाख रुपए राशि से प्रशासन एवं पशुपालन विभाग गायों के उपचार के लिए विधायक जीआर खटाणा एवं एसडीएम नीरज मीणा की मौजूदगी में मेडिकल एवं आयुर्वेदिक किट सौंपी। इसके अलावा गायों के चारा और पानी की व्यवस्था की।

विधायक जीआर खटाणा, एसडीएम नीरज मीणा ने ट्रस्ट की इस पहल की सराहना की। इस मौके पर ट्रस्ट अध्यक्ष वैद्य महेंद्र शर्मा व सचिव एडवोकेट अनिल भट्‌ट ने बताया कि बाबाजी के भक्तों के सहायता से उपलब्ध कराई गई करीब एक लाख रुपए की राशि लंपी से पीडित गौवंश के दवा, चारा एवं पानी पर खर्च की जाएगी। इस मौके पर ओमप्रकाश गुप्ता, डॉ राजेश धाकड़, आलोक गर्ग, राजेश गुप्ता, चंद्रप्रकाश डंगायच, गिर्राज ठाकुरिया, पार्षद गिर्राज शर्मा, विनेश वर्मा, दयाशंकर शर्मा, आलोक बनापुरिया, पंडित दामोदर शर्मा सहित अन्य मौजूद रहे।

बता दें कि 10 दिन पहले तक क्षेत्र में लंपी वायरस की रफ्तार कम थी। उस समय तक यहां मात्र 800 गायें ही इस वायरस से संक्रमित थी। मौत का आंकडा भी 50 था, लेकिन अब यह वायरस तेजी के साथ फैल रहा है। रोजाना बडी संख्या में गायों के लंपी वायरस से ग्रसित होने से प्रशासन भी चितिंत है। यहां हरिपुरा रोड पर क्वारेटाइन सेंटर में करीब 100 से अधिक गायों का उपचार हो रहा है।

खबरें और भी हैं...