अतिक्रमण:गणगोरी मैदान अब होगा अतिक्रमण मुक्त, प्रशासन के आश्वासन के बाद आंदोलन खत्म

लालसोट6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आखिर बाजार खुले

गणगोरी मैदान पर हो रहे अतिक्रमण के मुद्दे को लेकर व्यापार महासंघ के आह्वान पर चल रहा लालसोट बंद का निर्णय रविवार को अपराहन 3:30 बजे नगर पालिका प्रशासन के साथ हुई समझौता वार्ता के बाद वापस ले लिया गया। प्रशासन द्वारा गणगोरी मैदान पर चाट पकौड़ी के ठेलो के अलावा किसी भी तरह की व्यापारिक गतिविधियों का संचालित नहीं होने देने तथा अतिक्रमण मुक्त बनाए रखने के ठोस आश्वासन के बाद 2 दिन से चल रहा लालसोट बंद का आह्वान वापस ले लिया गया। इसी के साथ व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान खोलकर व्यापारिक गतिविधियों की शुरुआत की।

गौरतलब है कि गणगौरी मैदान पर शुक्रवार को एक अतिक्रमी द्वारा व्यापारी के साथ की गई मारपीट के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था। जिसके बाद व्यापार महासंघ के आह्वान पर शनिवार को लालसोट बंद रखा गया। नगर पालिका प्रशासन द्वारा ठोस निर्णय नहीं देने व गणगौरी मैदान को अतिक्रमण मुक्त रखने के लिखित आश्वासन नहीं दिए जाने के विरोध में रविवार को भी लालसोट बंद रखा। जवाहर गंज सर्किल पर व्यापारियों द्वारा धरना प्रदर्शन दिया गया। मामले की गंभीरता को लेकर 3:30 बजे के मौके पर अधिशासी अधिकारी सीमा चौधरी ने व्यापार महासंघ के प्रतिनिधियों के साथ वार्ता कर चाट पकौड़ी के ठेले वालों के अलावा अन्य किसी तरह के अतिक्रमण नहीं होने देने के दिए आश्वासन के बाद व्यापार महासंघ ने लालसोट बंद के आह्वान को वापस ले लिया। महासंघ के अध्यक्ष पुरुषोत्तम जोशी ने कहा कि गणगौरी मैदान को अतिक्रमण मुक्त बनाए रखने की व्यापारियों द्वारा मांग की गई थी। जिसे अधिशासी अधिकारी द्वारा मान लिया गया है। इसी के साथ लालसोट बंद का आह्वान वापस ले लिया गया तथा बाजार खोलकर व्यापारिक गतिविधियों की शुरुआत कर दी गई है। इस अवसर पर अधिशासी अधिकारी सीमा चौधरी, कनिष्ठ अभियंता सुरेश शर्मा, ओम प्रकाश झालानी, प्रेमशंकर आलोक, अजीत बड़जात्या सहित अनेकों लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...