महालक्ष्मी की जन आशीर्वाद यात्रा में पलक पांवडे़:धारा 144 के चलते नहीं मिली थी डीजे की अनुमति, बैंड बाजों के साथ निकली रथयात्रा

मेहंदीपुर बालाजीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जन आशिर्वाद यात्रा के दौरान बैंड बाजों धुन झूमतीं महिलाएं। - Dainik Bhaskar
जन आशिर्वाद यात्रा के दौरान बैंड बाजों धुन झूमतीं महिलाएं।

अग्रोहा से चल रही आद्घ महालक्ष्मी जन आशीर्वाद रथ यात्रा का आज मेहंदीपुर बालाजी के ठीकरिया में ग्रामीणों द्वारा स्वागत किया गया। वहीं अग्रवाल समाज द्वारा कुलदेवी महालक्ष्मी की विशेष पूजा की। इस दौरान रथ यात्रा को बेंड बाजों के साथ नाचते गाते हुए नगर भ्रमण कराया गया। वहीं इस मौके पर स्थानीय पुलिस प्रशासन मौजूद रहा।

महाराजा अग्रसेन की जन्मभूमि से हुई थी रवाना
गौरतलब है कि अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन नई दिल्ली की ओर से महाराजा अग्रसेन की जन्म भूमि अग्रोहा धाम हिसार हरियाणा के अग्रवाल शक्ति पीठ से गतवर्ष अखंड ज्योति लेकर रवाना हुई आद्द महालक्ष्मी के जन आशीर्वाद यात्रा कल शाम करीब 4 बजे मेहंदीपुर बालाजी के श्रीराम आश्रम धर्मशाला में पहुंची थी। जहां से रात में रथ यात्रा में आए अग्रवाल समाज के प्रबुद्ध जनों ने ठीकरिया गांव में विश्राम किया था। इस दौरान आज रथ यात्रा को ठीकरिया से सिकराय होते हुए समाज के लोग गीजगढ़ लेकर पहुंचेंगे, जहां रात्रि में विश्राम किया जाएगा।

भाईचारे का संदेश दे रही रथयात्रा
दरअसल हरियाणा में हिसार जिले के अग्रोहा में अग्रवाल समाज की कुलदेवी महालक्ष्मी के विशाल मंदिर का निर्माण करवाया जा रहा है। जिसके चलते समाज के लोगों द्वारा मंदिर निर्माण में सहयोग एवं आपसी भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए इस रथ यात्रा का आयोजन किया गया है।

धारा 144 कारण कल रोक दी गई थी
कल शाम रथ यात्रा को मेहंदीपुर बालाजी में धारा 144 चलते रथयात्रा को रोक दिया गया था। जिसे 2 घंटे की वार्ता के बाद बिना डीजे के अनुमति दे दी गई थी। जिसके आज बैंड बाजों के साथ आयोजन किया गया। इस दौरान काफी संख्या में अग्रवाल समाज की महिला एवं पुरुष रथयात्रा में मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...