शोभायात्रा निकाली:श्रीकृष्ण की बारात में नाचते गाते श्रद्धालु रवाना, शहर में पुष्प वर्षा कर किया स्वागत

दौसा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रथ में सवार दूल्हा (श्रीकृष्ण), बैंडबाजे की धुनों पर नाचते बाराती, आतिशबाजी की गूंज व पुष्प वर्षा से स्वागत करते शहरवासी। यह नजारा था बुधवार को शहर में निकाली भगवान श्रीकृष्ण की बारात एवं शोभायात्रा का। श्याम मंदिर चरण धाम के पाटोत्सव के दौरान सुबह 11 बजे प्रभात लोन के समीप शिव काॅलोनी स्थिति राधेश्याम माचीवाल के आवास से बारात शाही रथ में भगवान श्रीकृष्ण-रुकमणी जी की सजीव झांकी सजाकर रवाना हुई। इस दौरान बैंडबाजे व ढोल नगाड़ों पर श्याम के भक्तों ने जमकर नृत्य किया। जगह-जगह पुष्प वर्षा कर अल्पाहार कराकर बारातियों का स्वागत किया गया। श्याम मंदिर पर अगवानी व तोरण की रस्म निभाई गई। कथा के दौरान वरमाला कार्यक्रम आयोजित हुआ। वधु पक्ष की ओर से लक्ष्मण मोदी मंडी रोड ने कन्यादान की रस्म निभाई। इस दौरान वर पक्ष के राधेश्याम माचीवाल तथा वधुपक्ष के लक्ष्मण मोदी ने सभी कार्य संपन्न कराए। श्रद्धालुओं ने कन्यादान भेंट किए। श्याम मंदिर सत्संग भवन में चल रही भागवत कथा में कथावाचक पंडित विष्णु शास्त्री ने कहा कि तृष्णा दुख का कारण होता है। उन्होंने कहा कि तृष्णा को त्यागे बिना सुख-शांति संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर जब-जब आप और अत्याचार बढ़ते हैं, तब-तब भगवान अवतार लेकर पृथ्वी पर लीलाएं रचकर पापियों का संहार करते हैं। भजनों पर महिलाओं ने जमकर नृत्य किया।

खबरें और भी हैं...