• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Dausa
  • Doctors Were Banned For Night Duty In The Hospital, Medical Relief Society Would Employ Drivers To Operate The Ambulance

निर्देश:हॉस्पिटल में नाइट ड्यूटी के लिए चिकित्सकों को किया पाबंद, एंबुलेंस के संचालन के लिए मेडिकल रिलीफ सोसायटी लगाएगी ड्राइवर

दौसा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिजली,पानी के साथ डॉक्टरों के अस्पताल में नहीं ठहरने की शिकायतें ज्यादा मिलीं, अधिकारियों को समस्याओं का शीघ्र निराकरण करने के दिए निर्देश

ग्राम पंचायत कुंडल मुख्यालय पर शुक्रवार को एडीएम रामखिलाड़ी मीना, जिप सीईओ शिवचरण मीना व एसडीएम संजय कुमार गोरा ने जनसुनवाई की। जहां प्रमुख रूप से 32 जनसमस्याओं को ग्रामीणों ने शिकायत के रूप में बताया, जिनमें से 10 का मौके पर ही निस्तारण कर दिया। बाकी का शीघ्र समाधान कराने का आश्वासन दिया। बहरहाल, ग्रामीणों ने कुंडल अस्पताल में चिकित्सकों के नहीं ठहरने, 1 वर्ष से विधायक कोष से एंबुलेंस उपलब्ध होने के बाद भी ड्राइवर के नहीं होने से अनुपयोगी होने, जांच मशीनें होने के बाद भी जांच नहीं होने के मुद्दे प्रमुख रूप से अधिकारियों के समक्ष रखे। दौसा उपखंड अधिकारी संजय कुमार गोरा ने मौके पर ही ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. राजपाल मीणा को अस्पताल की व्यवस्थाएं सुदृढ़ करने, चिकित्सकों की रात्रि कालीन ड्यूटी निर्धारित करने, समय-समय पर अस्पताल का निरीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सकों को दो टूक शब्दों में कहा कि ड्यूटी के प्रति लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। चिकित्सक व कर्मचारी संवेदनशील रहकर जनता से जुड़ी समस्याओं का प्राथमिकता से निराकरण कराएं। साथ ही अस्पताल में 1 वर्ष से खड़ी एंबुलेंस को गंभीरता से लेते हुए मेडिकल रिलीफ सोसायटी से ड्राइवर लगाकर सुचारू संचालन के निर्देश दिए। इस दौरान विकास अधिकारी नाहरसिंह मीणा, पंचायत समिति सदस्य राजेंद्र प्रसाद शर्मा, सरपंच फूली देवी, जलदाय विभाग के सहायक अभियंता शिवचरण मीणा, ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजपाल मीणा सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे। पानी की समस्याओं का निराकरण नहीं होने पर महिलाओं ने जताई नाराजगी, एडीएम ने सर्वे कर टैंकर शुरू कराने की बात कही: कुंडल कस्बे में गोरा खुर्द गांव में व्यापक पीने के पानी की समस्या का समाधान नहीं होने पर ग्रामीणों ने जलदाय विभाग के अधिकारियों को जमकर खरी-खोटी सुनाई। महिलाओं ने रोष जताते हुए कहा कि ग्राम पंचायतों की बैठकों में प्रस्ताव लिखवाने के बाद भी कस्बे में टैंकरों से पीने के पानी की सप्लाई शुरू नहीं कराई जा रही है। इसके चलते रोजाना सिर पर मटकियां भर कर 2 से 3 किलोमीटर दूर से पानी लाने को मजबूर होना पड़ रहा है। मामले को गंभीरता से लेते हुए एडीएम रामखिलाड़ी मीणा ने मौके पर ही जलदाय विभाग के अधिकारियों को संबंधित क्षेत्रों का दौरा कर कस्बे में टैंकरों से पानी सप्लाई सुचारू कराने के निर्देश दिए। चरागाह भूमि व आम रास्तों की भूमि पर अतिक्रमण के मुद्दे भी जोर-शोर से उठाए: ग्रामीणों ने बेशकीमती सरकारी भूमियों पर हो रहे अतिक्रमणों को हटवाने की मांग जोर शोर से उठाई। उन्होंने कहा कि पूर्व में कई बार ज्ञापन व शिकायती पत्र दिए,मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। आम रास्ते की भूमि पर हो रहे अतिक्रमण के चलते लोगों का पैदल निकलना भी मुश्किल हो रहा है। एडीएम ने मौके पर ही उपखंड अधिकारी को निर्देशित करते हुए चरागाह भूमि पर हो रहे अतिक्रमण को चिन्हित कर संबंधित अतिक्रमणकारियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई कर अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए। साथ ही आम रास्ते की भूमि पर किए गए अतिक्रमण को पुलिस सहयोग लेकर हटवाने को कहा। खाद्य सुरक्षा सूची में नाम जुड़वाने जाने के लिए सौंपे प्रार्थना पत्र: नवाई के दौरान 5 पात्र लोगों ने खाद्य सुरक्षा सूची में नाम जुड़वाने जाने के लिए अधिकारियों को प्रार्थना पत्र सौंपे। उपखंड अधिकारी ने ईमित्र के माध्यम से संबंधित पोर्टल पर प्रार्थना पत्र अपलोड कराने को कहा। अधिकारियों ने पैदल घूमकर कस्बे की साफ-सफाई का किया निरीक्षण: एसडीएम संजय कुमार ने ग्रामीणों की साफ-सफाई नहीं होने की शिकायत पर खुद पैदल कस्बे में जाकर रास्तों का घूमकर निरीक्षण किया। कस्बे में जगह-जगह गंदगी व कचरे से नालियां भरी होने, गंदा पानी सड़क पर बहते देख गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने मौके पर ही सरपंच कुड़ी देवी, ग्राम विकास अधिकारी पुष्पांजलि शर्मा को कस्बे की साफ सफाई कराने को कहा। जन कल्याणकारी योजनाओं की धरातल पर क्रियान्वयन हो, लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी: एडीएम राम खिलाड़ी मीणा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा आमजन को लाभान्वित किए जाने के उद्देश्य चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं की सफल क्रियान्विति में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अधिकारी-कर्मचारी मुख्यालय पर रहकर जनता से जुड़ी समस्याओं का प्राथमिकता से निराकरण करें।

खबरें और भी हैं...