• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Dausa
  • Had Eaten Food At The Death Feast, On The Complaint Of Vomiting And Diarrhea, The Medical Team Of 4 Hospitals Treated

फूड पॉयजनिंग से 500 लोग बीमार:सवामणी में खाना था खाया, उल्टी-दस्त की शिकायत एडमिट कराया

दौसा15 दिन पहले
दौसा में फूड पॉयजनिंग से सैकड़ों लोग बीमार हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

दौसा जिले के सैंथल थाना क्षेत्र के रामबास गांव में फूड पॉयजनिंग से दर्जनों लोगों की तबीयत बिगड़ गई। सभी लोगों ने सामूहिक भोज के आयोजन में खाना खाया था। इसके बाद लोग फूड पॉयजनिंग का शिकार हो गए। जब लोगों की अचानक तबीयत खराब होने लगी तो स्वास्थ्य महकमे को भी सूचना दी गई।

इसके बाद मेडिकल टीम ने तत्काल मौके पर पहुंच बीमार लोगों का मौके पर ही इलाज शुरू किया। जिनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी उन्हें सैंथल और कुंडल सीएचसी में भर्ती कर इलाज किया गया तो वहीं कुछ लोगों को जिला अस्पताल में भी भिजवाया गया है, जहां उनका इलाज जारी है।

सीएमएचओ डॉ. सुभाष बिलोनिया ने बताया रामबास गांव में फूड पॉयजनिंग की सूचना मिलते ही मेडिकल टीम के साथ वह स्वयं मौके पर पहुंचे। साथ ही कुंडल और सैंथल अस्पताल की टीमों को मौके के लिए रवाना किया गया। तीतरवाड़ा अस्पताल की टीम भी मौके पर पहुंची और बीमार लोगों का मौके पर ही इलाज शुरू किया।

अस्पताल में बेड कम पड़ने पर बीमार लोगों का फर्श पर लिटाकर इलाज किया गया.
अस्पताल में बेड कम पड़ने पर बीमार लोगों का फर्श पर लिटाकर इलाज किया गया.

लड्डू, पूरी, सब्जी और भुजिया का सेवन किया

सीएमएचओ ने बताया गांव में सवामणी के आयोजन में रामबास सहित आसपास के गांवों के लोग खाना खाया था। बीती रात भी लोगों ने लड्डू, पूरी सब्जी और बेसन के भुजिया खाई थी कि सुबह लोगों की तबीयत बिगड़ने पर उल्टी दस्त हुए। लोगों ने उन्हें फ़ूड पॉयजनिंग की सूचना दी।

सैंपल लेकर जांच के लिए भिजवाया

तत्काल प्रभाव से मौके पर स्वास्थ्य महकमे की टीमों ने पहुंच खाने के नमूने लिए। जिन्हें जांच के लिए प्रयोगशाला भिजवाया जा रहा है। जांच के बाद ही पता लगेगा फूड पॉयजनिंग का कारण क्या रहा, लेकिन फिलहाल फूड पॉयजनिंग के शिकार सभी लोगों की हालत खतरे से बाहर है। कुछ लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई तो वहीं कुछ लोगों का अभी भी इलाज जारी है। मेडिकल टीम भी मौके पर तैनात है।