लाेक अदालत में समझाश:दो साल बाद पति-पत्नी एक साथ रहने को राजी

दौसा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला न्यायालय में शनिवार काे राष्ट्रीय लाेक अदालत का आयाेजन किया गया। पारिवारिक न्यायालय दाैसा में लंबित एक मामले में पति-पत्नी के बीच दाे साल से मनमुटाव चल रहा था। दाेनाें से लाेक अदालत में समझाश की गई, जहां दाेनाें साथ-साथ रहने काे राजी हाे गए। फिर एक दूसरे काे माला पहनाकर खुशी का इजहार किया।

पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश प्रेमचंद शर्मा व सदस्य अधिवक्ता दीपक शर्मा-द्वितीय ने दंपति चंदा उर्फ चंद्रकला व नितेश उ‌र्फ नाथू से विवाद के संबंध में समझाइश की। इस पर पति-पत्नी दाेनाें साथ-साथ रहने काे तैयार हाे गए। इस पर परिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश प्रेमचंद शर्मा व अधिवक्ता दीपक शर्मा ने दंपति काे सुखद, सफल व उज्ज्वल भविष्य की शुभकामना दी। इस दाैरान पक्षकाराें के विधि मित्र याेगेश जाखड़, अशाेक बैरवा तथा न्यायालय स्टाफ में नेमसिंह कुंतल मनीष बंसल व संताेष व्यास माैजूद थे। दूसरी अाेर राष्ट्रीय लाेक अदालत में 16 हजार 37 प्रकरणाें का राजीनामे से निस्तारण किय गया।

खबरें और भी हैं...