कॉलेज प्रिंसिपल ने स्टूडेंट्स से की छेड़छाड़:कहा- तुम शॉर्ट्स पहना करो, खुले बाल रखो, विरोध किया तो धमकी दी

दौसा3 महीने पहले
यह तस्वीर 18 नवंबर की है। विभिन्न मांगों को लेकर राजकीय कन्या महाविद्यालय बांदीकुई के प्रिंसिपल विमल कुमार (नीली जैकेट में) को मांग पत्र सौंपती लड़कियां।

राजकीय कन्या महाविद्यालय की 3 छात्राओं ने प्रिंसिपल विमल कुमार महावर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। आरोप है कि प्रिंसिपल अभद्र व्यवहार करता है। छेड़छाड़ करता है, फब्तियां कसता है। अश्लील बातें करता है। मामला दौसा के बांदीकुई का है। पुलिस ने शिकायत ( 354-डी) दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दाएं नीली जैकेट में प्रिंसिपल विमल कुमार महावर। तस्वीर कॉलेज की है, जिसमें छात्राएं प्रिंसिपल को मांगों से जुड़ा प्रार्थना पत्र सौंप रही हैं।
दाएं नीली जैकेट में प्रिंसिपल विमल कुमार महावर। तस्वीर कॉलेज की है, जिसमें छात्राएं प्रिंसिपल को मांगों से जुड़ा प्रार्थना पत्र सौंप रही हैं।

छात्राओं का आरोप है कि कई बार प्रिंसिपल ने आपत्तिजनक बातें कीं। विरोध किया तो कहा - मैं जो कर रहा हूं, सही है। तुमने विरोध या शिकायत की तो तुम्हारा चरित्र और भविष्य खराब कर दूंगा। तुम्हें कहीं का नहीं छोडूंगा। तुम मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती।

छात्राओं ने शिकायत में लिखा कि दिसंबर 2021 में हुए एक एनएसएस कैंप में प्रिंसिपल ने छात्राओं से कहा कि जब मेरी लड़कियों को इंप्रेस करने की उम्र थी, तब उन्हें इंप्रेस नहीं किया, अब तुम्हें इंप्रेस करना चाहता हूं तो तुम इंप्रेस नहीं होती हो।

छात्राओं ने शिकायत में लिखा कि 7 सितंबर 2022 को एक छात्रा को प्रिंसिपल ने कहा कि फ्यूचर में तुम्हारा ससुराल कैसा हो, तुम्हें कैसा पति चाहिए, मुझसे ज्यादा चाहने वाला तुम्हें कोई नहीं मिलेगा। कहता है- तुम मुझे बड़ी क्यूट लगती हो, तुम शॉर्ट्स पहना करो, खुले बालों में तुम मुझे बड़ी सुंदर लगती हो, तुम मेकअप करके और लिपस्टिक लगाकर कॉलेज आया करो।

लड़कियों ने आरोप लगाया कि प्रिंसिपल पॉलिटिकल साइंस पढ़ाता है और पढ़ाते वक्त अनर्गल बातें लड़कियों से करता है। वह लड़कियों को गंदी नजर से देखता है और गंदी बातें कर मानसिक तौर पर परेशान करता है। हम विरोध करते, लेकिन प्रिंसिपल झूठे मामलों में फंसाने और गैर हाजिर दिखाकर परीक्षा से वंचित करने की धमकियां देता था।

छात्राओं ने दो दिन पहले हंगामा किया था। कई मांगें प्रिंसिपल के सामने रखीं थीं, जिस पर उनके खिलाफ कॉलेज प्रशासन की ओर से FIR दर्ज करवा दी गई थी।
छात्राओं ने दो दिन पहले हंगामा किया था। कई मांगें प्रिंसिपल के सामने रखीं थीं, जिस पर उनके खिलाफ कॉलेज प्रशासन की ओर से FIR दर्ज करवा दी गई थी।

एक छात्रा ने आरोप लगाया कि 17 नवंबर 2022 को वह कॉलेज गई तो प्रिंसिपल ने कॉलेज ग्राउंड में उसे रोक लिया। कहा- तुम मुझे बहुत सुंदर लगती हो, लिपस्टिक लगाकर कॉलेज आया करो। बाल खुले रखा करो, जिससे तुम और भी सुंदर लगोगी, चैंबर में अकेले मिलने के लिए भी कहा।

बीए सेकेंड ईयर की एक छात्रा ने कहा- प्रिंसिपल गंदी-गंदी बात कर परेशान करता है। जिससे सारी लड़कियां परेशान हैं। पद का दुरुपयोग कर धमकी देकर वह छात्राओं के साथ गंदी हरकतें और अभद्र व्यवहार करता है। हम डरे हुए हैं। अब हिम्मत कर शिकायत कर रहे हैं।

20 नवंबर रविवार को कॉलेज की तीन छात्राओं ने मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 354-डी में मामला दर्ज कर जांच सहायक उपनिरीक्षक जयदेव सिंह को दी है।

प्रिंसिपल ने कहा- FIR का रिएक्शन है
प्रिंसिपल विमल कुमार महावर ने कहा कि अभी पता चला कि लड़कियों ने मेरे खिलाफ शिकायत की है। हमारे यहां दो दिन पहले लड़कियों ने धरना-प्रदर्शन कर तालाबंदी की थी। उसमें प्रेसिडेंट महासचिव तो चली गई थीं लेकिन वाइस प्रेसिडेंट व उसकी समर्थक लड़कियों ने हंगामा किया था। तालाबंदी की थी। इसलिए कॉलेज प्रशासन की ओर से राजकार्य में बाधा डालने की FIR दर्ज कराई गई थी। एफआईआर की प्रतिक्रिया स्वरूप उन लड़कियों के ग्रुप से कुछ लड़कियों ने आरोप लगाए हैं। मैं संस्था प्रधान हूं, संस्था की ओर से लड़कियों के खिलाफ FIR करवाई गई थी।

दो दिन पहले कॉलेज में हुआ था हंगामा
बांदीकुई के गवर्नमेंट गर्ल्स कॉलेज में 2 दिन पहले हंगामा हुआ था। इसके बाद कॉलेज प्रिंसिपल विमल कुमार महावर ने छात्र संघ उपाध्यक्ष सहित एक अन्य छात्रा के खिलाफ राजकार्य में बाधा डालने, कॉलेज की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला थाने में दर्ज कराया था।

दौसा जिले के बांदीकुई कस्बे का राजकीय कन्या महाविद्यालय।
दौसा जिले के बांदीकुई कस्बे का राजकीय कन्या महाविद्यालय।

प्रिंसिपल विमल कुमार महावर की शिकायत के मुताबिक 18 नवंबर को छात्र संघ उपाध्यक्ष और एक अन्य छात्रा ने क्लासेस से छात्राओं को जबरन बाहर बुला लिया और कमरों को ताला लगा दिया। कॉलेज की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। इस दौरान नारेबाजी करने से शैक्षणिक माहौल को खराब किया गया।

प्रिसिंपल ने हंगामे को लेकर आरोप लगाया था कि छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन को काम भी नहीं करने दिया। पुलिस ने मामला दर्ज किया था। छात्राओं ने कॉलेज में व्याख्याता नहीं होने एवं छात्र संघ का कार्यभार ग्रहण नहीं कराने के मामले को लेकर हंगामा किया था और प्रिंसिपल के रूम को ताला लगा दिया था।

शुक्रवार को क्या हुआ था
गवर्नमेंट गर्ल्स कॉलेज में शुक्रवार को छात्रसंघ कार्यालय के उद्घाटन और लेक्चरर की कमी के मामले को लेकर नाराज छात्राओं ने हंगामा कर दिया था। छात्रसंघ अध्यक्ष रवीना सैनी एवं उपाध्यक्ष कोमल बैरवा ने प्रिंसिपल कक्ष पर ताला जड़ दिया था और नारेबाजी की थी।

कॉलेज प्रिंसिपल के रूम को 18 नवंबर को ताला लगाती छात्राएं। कॉलेज के बरामदे में नारेबाजी करतीं छात्राएं।
कॉलेज प्रिंसिपल के रूम को 18 नवंबर को ताला लगाती छात्राएं। कॉलेज के बरामदे में नारेबाजी करतीं छात्राएं।

छात्राओं का कहना था कि छात्रसंघ चुनाव हुए 3 महीने हो गए, लेकिन छात्रसंघ पदाधिकारियों को न तो कार्यभार ग्रहण कराया, न ही छात्रसंघ कार्यालय का उद्घाटन हुआ। उन्होंने कहा था कि कॉलेज में व्याख्याता कम हैं। नियमित रूप से क्लासेज नहीं लग पा रही हैं। लेक्चरर देरी से आते हैं, इससे पढ़ाई भी नहीं हो पा रही। कई बार प्रिंसिपल से शिकायत की लेकिन समाधान नहीं हुआ।

प्रिंसिपल ने दलील दी थी कि कॉलेज की इमारत छोटी होने के कारण छात्र संघ कार्यालय नहीं खोला जा रहा। प्रिंसिपल ने छात्राओं को कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी, लेकिन छात्राएं अपनी मांग पर अड़ी हुई थीं।

यह भी पढ़ें

BSF के जवानों ने युवती को बंधक बनाकर किया रेप:दूध लेने गई थी; डेयरी मालिक-कर्मचारी भी शामिल, 5 पर केस

श्रीगंगानगर के रायसिंहनगर में युवती से रेप का मामला सामने आया है। रेप करने वालों में तीन बीएसएफ (सीमा सुरक्षा बल) जवान भी शामिल हैं। घटना रायसिंहनगर की कुम्हार बस्ती के एक दूध डेयरी के गोदाम में हुई। युवती ने डेयरी मालिक और उसके कर्मचारी सहित पांच के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। मामले में युवती ने तीन बीएसएफ जवानों के भी शामिल होने की शिकायत की थी। पीड़िता का कहना है कि वह उनके नाम नहीं जानती। पुलिस ने इस मामले में डेयरी मालिक और उसके कर्मचारी से घटना के बारे में जानकारी जुटाई है। उसके बाद बीएसएफ जवानों को भी उच्च अधिकारियों की अनुमति के बाद पूछताछ कर गिरफ्तार कर लिया गया। अधिकारियों का कहना है कि अब पीड़िता से इनकी पहचान कराई जाएगी। (पूरी खबर पढ़ें)