बेखौफ लुटेरे - 2 मिनट में बैंक से 8 लाख:फायरिंग देख वृद्धा बोली, भाया ओ काईं कर रिया छाे, लुटेरा बोला- का कह रही माताजी, चुपचाप बैठ जा

दौसा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंत्री परसादी के गृह क्षेत्र में बेखौफ लुटेरे बिलौना कलां की राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक में वादात, तीनों बदमाश सीसीटीवी में कैद

लालसोट पिस्तौल की नोंक पर तीन बाइक सवार बदमाशों ने चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा के लालसोट क्षेत्र के गांव बिलौना कला की राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक शाखा में बुधवार को 8 लाख की लूट की वारदात को अंजाम दिया। नकाबपोश बेखौफ बदमाशों ने ब्रांच में एंट्री लेते ही दहशत फैलाने के लिए फायर शुरू कर एंट्री ली। सीधे कैश विंडो पर पहुंचे तो पेटी में रकम नहीं मिली, इस पर बौखलाए बदमाशों ने शाखा प्रबंधक नेमीचंद मीना की कनपटी पर पिस्तौल तानी और गाली देते हुए कहा कि चल चाबी दे। साथ ही बांह पकड़कर स्ट्रांग रूम तक ले गए।

बेेटे के साथ बैंक शाखा में आई 65 साल की वृद्धा कैलाशी देवी ने फायरिंग देख लूटेरों से देहाती में कहा कि भायाओ काईं कर रिया छो...इस पर एक लूटेरे ने कैलाशी देवी को कहा कि का कह रही है माताजी, चुपचाप बैठ जा...। लुटेरों ने तिजोरी को खुलवाकर महज दो मिनट में ही 8 लाख रुपयों को समेटकर बैग में भरकर तीनों बाइक से ही फरार हो गए। बुधवार को लालसोट- कोटा मेगा हाइवे पर बिलोना कला ग्राम स्थित राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक में बगैर नंबर की बाइक से 22 से 25 वर्ष के नकाब पहने हुए तीन युवक आए, एक गेट के बाहर रुक गया और दो भीतर घुस गए। घुसते ही फायर किए तो एक गोली दीवार में धंस गई और दूसरी गोली कंप्यूटर की एलईडी पर लगी। लूट की घटना के दौरान बैंक में 2 कार्मिक व एक बैंक मित्र सहित 4 कस्टमर भी थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले और धरपकड़ के लिए दबिश दी। एएसपी डॉ.लालचंद कायल मौके पर पहुंचे और नाकेबंदी भी कराई।

दुस्साहस... उम्र 22 से 25 वर्ष, नकाबपोश 3 बदमाश, 4 फायर किए, मैनेजर पर पिस्टल तानी‎

सुबह 10:59 बजे बैंक शाखा में घुसे

बैंक सीसीटीवी फुटेज में बदमाश कैद हो गए। बैंक में 10:59:04 सैकंड पर फायरिंग करते हुए बदमाश अंदर घुसे। बैंक में घुसते ही फायरिंग की 10:59:12 सेकंड पर बैंक मैनेजर को बंदूक तानकर हाथ सीधा खड़ा कर दिया। बैंक कैश रूम की तरफ गए, मगर वहां पेटी खाली पाई। वापस लौटे तथा 10:59:18 सेकेंड पर मैनेजर पर पिस्तौल तान कर धकेल कर स्ट्रांग रूम में ले गए। जहां से बैग में रुपया भरकर वापस 11:01 पर बैंक परिसर से बाहर निकल गए। वे करौली डांग क्षेत्र की भाषा में बोल रहे थे। शाखा के बाहर सीसीटीवी नहीं होने के कारण उनके भागने के फुटेज नहीं मिल पाए। ग्रामीणों के अनुसार भागते हुए फायरिंग करते हुए बदमाश निकले थे। बैंक में सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे, यहां तक कि सुरक्षा गार्ड भी नहीं।

10:59:34 बजे मैनेजर पर तानी बंदूक

बैंक सीसीटीवी फुटेज में बदमाश कैद हो गए। बैंक में 10:59:04 सैकंड पर फायरिंग करते हुए बदमाश अंदर घुसे। बैंक में घुसते ही फायरिंग की 10:59:12 सेकंड पर बैंक मैनेजर को बंदूक तानकर हाथ सीधा खड़ा कर दिया। बैंक कैश रूम की तरफ गए, मगर वहां पेटी खाली पाई। वापस लौटे तथा 10:59:18 सेकेंड पर मैनेजर पर पिस्तौल तान कर धकेल कर स्ट्रांग रूम में ले गए। जहां से बैग में रुपया भरकर वापस 11:01 पर बैंक परिसर से बाहर निकल गए। वे करौली डांग क्षेत्र की भाषा में बोल रहे थे। शाखा के बाहर सीसीटीवी नहीं होने के कारण उनके भागने के फुटेज नहीं मिल पाए। ग्रामीणों के अनुसार भागते हुए फायरिंग करते हुए बदमाश निकले थे। बैंक में सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे, यहां तक कि सुरक्षा गार्ड भी नहीं।

11:01 बजे बैंक से बाहर निकले बदमाश

बैंक सीसीटीवी फुटेज में बदमाश कैद हो गए। बैंक में 10:59:04 सैकंड पर फायरिंग करते हुए बदमाश अंदर घुसे। बैंक में घुसते ही फायरिंग की 10:59:12 सेकंड पर बैंक मैनेजर को बंदूक तानकर हाथ सीधा खड़ा कर दिया। बैंक कैश रूम की तरफ गए, मगर वहां पेटी खाली पाई। वापस लौटे तथा 10:59:18 सेकेंड पर मैनेजर पर पिस्तौल तान कर धकेल कर स्ट्रांग रूम में ले गए। जहां से बैग में रुपया भरकर वापस 11:01 पर बैंक परिसर से बाहर निकल गए। वे करौली डांग क्षेत्र की भाषा में बोल रहे थे। शाखा के बाहर सीसीटीवी नहीं होने के कारण उनके भागने के फुटेज नहीं मिल पाए। ग्रामीणों के अनुसार भागते हुए फायरिंग करते हुए बदमाश निकले थे। बैंक में सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे, यहां तक कि सुरक्षा गार्ड भी नहीं।

मैनेजर बोले- मुझे गाली दी, कहा- चाबी दे, वरना मार देंगे

बैंक प्रबंधक नेमीचंद मीना ने कहा कि लुटेरों ने फायर किए । मेरे पास आकर कनपटी पर पिस्तौल तानी और गाली वाले लहजे में बोले हाथ खडे कर, जल्दी से चाबी दे और चल, वरना जान से जाएगा।

डेढ़ साल पहले भी हुई थी कोशिश, फिर भी सुरक्षा इंतजाम नहीं

हथियारों से लैस लुटेरों ने बैंक शाखा में बुधवार सुबह 10:59 पर प्रवेश किया और 11:01 तक लूट की वारदात को अंजाम देकर चंपत हो गए। बदमाशों को पकड़ने के लिए ग्रामीणों ने कोशिश भी की, मगर फायरिंग करते हुए लुटेरे भागने में सफल रहे। इस दौरा बैंक शाखा के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई। इस मामले में मंडोर पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पूर्व में भी डेढ़ साल पहले इसी बैंक में सेंधमारी लगाकर चोरी की घटना को अंजाम देने का प्रयास किया था मगर स्ट्रांग रूम की तिजोरी नहीं टूटने के कारण चोरी की वारदात विफल रही। बैंक में सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे, यहां तक कि सुरक्षा गार्ड भी नहीं था। बैंक प्रबंधन ने इसकी प्राथमिकी मंडावरी पुलिस थाने में दर्ज कराई है।

एक गोली दीवार पर तो दूसरी कम्प्यूटर की एलईडी पर लगी

राजेश सैनी ने बताया कि 3 बदमाशों ने आते ही फायरिंग की, पहली दीवार पर लगकर नीचे गिर गई। उन्होंने कंप्यूटर के एलईडी पर भी फायरिंग की । रंगलाल मीणा ने कहा कि वह धमाके की आवाज सुनकर बैंक की तरफ दौड़ा तो गेट पर खड़े बदमाश ने उसे धमकाते हुए वापस भेज दिया।

खबरें और भी हैं...