सफाई कर्मचारी भर्ती:एससी आयाेग ने गैर वाल्मीकि समाज के सफाई कर्मचारियाें काे अन्य कार्य में लगाने की शिकायत काे गंभीरता से लिया

दौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयुक्त काे लिखी चिट्ठी, कहा सफाई कर्मचारी के ताैर पर भर्ती हुए हैं ताे सभी जाति के स्टाफ से सफाई कराएं

नगर परिषद दाैसा में वर्ष 2018 में 76 स्थाई सफाई कर्मचारियाें की भर्ती की गई थी, जिसमें वाल्मिकी समाज के समाज के सिर्फ 22 लाेग ही भर्ती हुए थे। शेष 54 सफाई कर्मचारी अन्य जाति के थे। अन्य जाति के लाेग सफाई कार्य नहीं कर नगर परिषद में बाबूगिरी या अफसराें के घराें पर काम करते हैं। इसकी शिकायत वाल्मिकी सफाई कर्मचारियाें ने राज्य एससी आयाेग के उपाध्यक्ष सचिन विष्णु देव सर्वटे की। सफाई कर्मचारियाें का कहना था कि वाल्मिकी समाज के स्टाफ काे शाेषण किया जा रहा है। इसे गंभीरता से लेते हुए आयाेग के उपाध्यक्ष सर्वटे ने बुधवार काे आ​​​​​​​युक्त काे चिट्ठी लिखकर आदेश दिए हैं कि सभी जाति के लाेगाें से समान रूप से सफाई कार्य कराया जाए। साथ ही पालना रिपाेर्ट से आयाेग काे अवगत कराने के बारे में भी लिखा है।

हाल ही में वाल्मिकी सफाई कर्मचारियाें का एक प्रतिनिधिमंडल एससी आयाेग के उपाध्यक्ष सर्वटे से मुलाकात की थी। तब सफाई कार्य में भेदभाव व शाेषण की शिकायत की थी। इस पर आयाेग ने अब एक्शन लिया है। आयाेग के उपाध्यक्ष सर्वटे ने मंगलवार काे आयुक्त के नाम चिट्ठी लिखी, जिसमें लिखा कि सफाई कर्मचारी के ताैर पर भर्ती हुए हैं, उन सभी लाेगाें से समान रूप से सफाई कार्य कराया जाए। जाति के आधार पर किसी के प्रति नरमी या शाेषण नहीं किया जाए। सफाई कर्मचारी किसी भी जाति से हाें, लेकिन भर्ती के समय सभी अभ्यर्थियाें काे पता था कि क्या काम करना पड़ेगा। फिर भर्ती हाेने के बाद सफाई कार्य करने से शर्म कैसी। साथ ही स्वायत्त शासन विभाग के पत्र क्रमांक 17315-505 व 1633-30 तारीख 17 मई 2019 का हवाला भी दिया है, जिसमें लिखा है कि निकायाें में कार्यरत गैर वाल्मिकी सफाई कर्मचारियाें से मूल कार्य यानी सफाई कार्य लिए जाने के संबंध में है। उक्त आदेश की पालना सुनिश्चित कराई जाए और आप यानी आयुक्त द्वारा की गई कार्रवाई से आयाेग काे अवगत कराएं। राज्य अनुसूचित जाति आयाेग ने प्रतिलिपि मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत, एससी आयाेग के अध्यक्ष खिलाड़ी लाल बैरवा, स्वायत्त शासन विभाग के संयुक्त सचिव-निदेशक, स्थानीय निकाय विभाग जयपुर के उपनिदेशक व कलेक्टर दाैसा काे भेजी है।

खबरें और भी हैं...