• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Dausa
  • The Wind Fell, Daskandhar... 71 Feet Of Ravana Built In Bandikui For 1.50 Lakhs, The Neck Broke Due To The Wind, If It Is Not Cured, Then Burn It Broken

दशानन के पुतले पर बारिश का कहर:हवा चली गिरत दसकंधर...बांदीकुई में 1.50 लाख में बनाया 71 फीट का रावण, हवा से गर्दन टूटी, ठीक नहीं हुआ तो टूटा हुआ ही जलाना

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बांदीकुई|हवा से टूटी रावण के पुतले की गर्दन। - Dainik Bhaskar
बांदीकुई|हवा से टूटी रावण के पुतले की गर्दन।
  • दौसा में 55 फीट का पुतला 2 मिनट में, लालसोट में 41 फीट का पुतला 15 मिनट, महवा में 51 फीट का पुतला 2 मिनट में राख

बांदीकुई में रावण दहन से पहले बरसात एवं हवा से डेढ़ लाख की लागत से बना जिले का सबसे ऊंचा 71 फिट दशानन का पुतला टूट कर धराशाही हो गया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद भी ठीक नहीं हुआ तो पालिका प्रशासन ने टूटे पुतले का दहन करा दिया। इससे कार्यक्रम करीब एक घंटे लेट हो गया। वहीं विजयादशमी पर्व पर दौसा में 55 फुट रावण के पुतला 2 मिनट में, लालसोट में 41 फुट पुतला 15 मिनट में व महवा में 51 फुट का 2 मिनट में दशानन रावण सहित कुंभकर्ण व मेघनाद के 41-41 फुट के पुतलों का दहन किया गया। इस दौरान पर्यावरण संरक्षण को लेकर आसमान में ग्रीन आतिशबाजी नजारे दिखाई दिए। वहीं पहली बार नगर पालिका बनी मंडावर में बजट अभाव में रावण दहन कार्यक्रम आयोजित नहीं हो सका।

बांदीकुई में टूटे पुतले का दहन, एक घंटे लेट हुआ कार्यक्रम

पालिका की ओर से बांदीकुई में रावण दहन का कार्यक्रम राजेश पायलट राजकीय पीजी कॉलेज में शाम 6 बजे से निर्धारित किया। इसमें डेढ़ लाख की लागत से जिले का सबसे 71 फुट ऊंचा रावण का पतला एवं 50-50 हजार की लागत के 51 -51 फ़ुट का मेघनाथ व कुंभकरण के पुतले लगाए गए। पालिका प्रसाशन बुधवार की दोपहर में क्रेन की मदद से रावण का पुतला खड़ा करा दिया। जैसे ही शेष दोनों पुतले खड़े करने की तैयारी की तो साम 4 बजे बरसात का दौर शुरू हो गया। इससे दोनों पुतले ढक दिए। लेकिन रावण के पुतले की हाइट अधिक होने से बरसात में भीग गया। इसके बाद आए साम करीब 5 बजे हल्के हवा के झोंके से रावण के पुतले की गर्दन टूट गई और पीछे की ओर लटक गई। बरसात से कई बार रावण के पुतला भीगने की घटना हुईं लेकिन टूटे हुए रावण के पुतले का दहन पहली बार हुआ।

खबरें और भी हैं...