अच्छी पहल:गाेशाला को आत्मनिर्भर बनाने के लिए‎ वर्मी कंपोस्ट प्रकल्प का किया शुभारंभ‎

दौसा18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गाेकुलधाम गाेशाला में जादूगर एस.कमार ने कहा- गाे संरक्षण व गाे संवर्धन के लिए यह अच्छी पहल

गाेकुलधाम गाेशाला के तत्वावधान में गाे संरक्षण-संवर्धन व गाेशालाओं को आत्म निर्भर बनाने की दिशा में जैविक खाद बनाने की पहल का शनिवार को शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ हनुमत उपासक व अंतरराष्ट्रीय जादूगर एस. कुमार के सानिध्य में राजापार्क मंडल अध्यक्ष राजेश कुमार शर्मा व चेयरमैन अतिक्रमण निरोधक समिति नगर निगम ग्रेटर जयपुर लक्ष्मण सिंह नूनीवाल ने फीता काटकर किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला प्रदेशाध्यक्ष निशा नागर ने की। जादूगर कुमार ने कहा कि गाेकुलधाम द्वारा गाे संरक्षण व गाे-संवर्धन की दिशा में किया जा रहा यह उत्कृष्ट कार्य है। इससे गाेशाला आत्म निर्भर बनेंगी।

गाेशाला संचालक विश्वेश कुमार शर्मा ने फसलों में वर्मी कंपोस्ट खाद के फायदे के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि खेती में रासायनिक खादों का इस्तेमाल बढ़ने से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि बढ़ती बीमारी और प्रदूषण को देखते हुए लोगों का आकर्षण अब जैविक खेती की ओर बढ़ रहा है। जैविक खेती तभी संभव है जब प्रयोग की जाने वाली खाद भी ऑर्गेनिक हो। वर्मी कंपोस्ट ऑर्गेनिक खाद है। वर्मी कंपोस्ट मिट्टी की उवर्रकता को सुरक्षित रखती है। इससे खेतों में उपज में वृद्धि होती है। भूमि में उपयोगी जीवाणुओं की संख्या में वर्मी कंपोस्ट वृद्धि करती है। इसके प्रयोग से फल, सब्जी, अनाज की गुणवत्ता में सुधार होगा। महिला प्रदेशाध्यक्ष निशा नागर ने लोगों को गाे गव्य से निर्मित उत्पादों को ज्यादा से ज्यादा घरों में उपयोग करने का संकल्प दिलाया। गाेशाला अध्यक्ष घनश्याम जोशी, श्याम शर्मा, महावीर शर्मा, मक्खन लाल, लल्लू लाल, राकेश शर्मा, रामावतार शर्मा, सुशीला शर्मा, दीपिका शर्मा, अंजू, चंचल, अक्षत नागर, सीताराम सैनी, दुर्गेश बिशनपुरा, मोहित शर्मा, मनीष आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...