जारगा-अतरसुमा मार्ग पर 2-2 फुट गहरे गड्‌ढे:बच्चे और वृद्ध हो रहे घायल, पीडब्ल्यूडी नहीं करा रही मरम्मत

बसेड़ी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क पर खड़े ग्रामीण विरोध प्रदर्शन करते हुए। - Dainik Bhaskar
सड़क पर खड़े ग्रामीण विरोध प्रदर्शन करते हुए।

जारगा अतरसुमा मिर्जापुर सड़क मार्ग लंबे समय से क्षतिग्रस्त है लेकिन पीडब्ल्यूडी विभाग का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। जिसका खामियाजा क्षेत्रीय जनता और इस मार्ग से निकलने वाले वाहन चालकों को उठाना पड़ रहा है। समस्या को लेकर ग्रामीणों द्वारा क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि व प्रशासन को भी अवगत कराया है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुई है। जिससे क्षेत्रीय ग्रामीणों में आक्रोश बना हुआ है। इस सड़क मार्ग पर एक से दो फुट गहरे गड्ढे हो चुके है जिससे वाहन चालकों को इन गड्डो की गहराई का पता नही चल पाता है।

जिससे आए दिन दुपहिया वाहन चालक घायल हो जाते है। इसके अलावा वाहन भी क्षतिग्रस्त हो जाते है। यह सड़क मार्ग जारगा से सैंपऊ के लिए जोड़ता है। इन दिनों बरसात होने के कारण यह सड़क पूरी तरह खत्म हो चुकी है। जिसके कारण हर रोज सड़क पर हादसे हो रहे हैं। सबसे खास बात यह है कि अगर गर्भवती महिला को अस्पताल ले जाया जाता है तो इन गड्ढों के चलते महिला की तबीयत बिगड़ने का भी खतरा रहता है।

इसके अलावा इस मार्ग से निकलने वाले स्कूली बच्चों को भी आवागमन में परेशानी होती है। कई बार नन्हे मुन्ने बच्चे इन गड्डो में गिरकर चोटिल हो जाते है और उनकी ड्रेस भी खराब होती है। ग्रामीण कैलाशी, घूरे, पवेंद्र, योगेंद्र, लक्ष्मण, फिरोज हरिओम आदि ने जिला प्रशासन से सड़क मार्ग को दुरुस्त कराने की मांग की है जिससे समय रहते हादसों को र ोका जा सके।

खबरें और भी हैं...