स्कूल की जमीन से 40 साल पुराना अतिक्रमण हटाया:गांव के लोगों ने आपस में सुलझाया मामला, खेल मैदान बनेगा

धौलपुर3 महीने पहले
ग्रामीणों ने 40 साल से सरकारी स्कूल की जमीन पर किए गए अतिक्रमण को खुद हटा लिया है। इस जमीन पर अब खेल मैदान बनेगा।

देश भर में अपनी खास पहचान बनाने वाले स्मार्ट विलेज धनोरा के गांव वालों ने एक और नजीर पेश की है। इंदौर इनकम टैक्स कमिश्नर सतपाल मीणा की पहल पर ग्रामीणों ने 40 साल से सरकारी स्कूल की जमीन पर किए गए अतिक्रमण को खुद हटा लिया है। अतिक्रमण हटाने के साथ ही ग्रामीण करीब 6 बीघा जमीन पर गांव के लोगों के लिए स्टेडियम तैयार करने में जुट गए हैं।

सोच बदलो गांव बदलो समिति के संस्थापक इंदौर के इनकम टैक्स कमिश्नर सतपाल मीणा की पहल पर ग्रामीण एक दूसरे से कंधा मिलाकर स्टेडियम को तैयार करने में लगे हैं। 40 सालों से जमा अतिक्रमण को लोगों ने खुद हटाकर एक मिसाल पेश की है। मामला यूं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों धौलपुर जिले के स्मार्ट विलेज धनौरा को सम्मानित किया गया था। जिसके बाद से ही ग्रामीणों ने गांव के विकास को लेकर एक समिति का गठन किया। सोच बदलो गांव बदलो समिति की पहल पर गांव के बच्चों के लिए खेल मैदान तैयार करने का प्रस्ताव लाया गया। इसके लिए ग्रामीणों ने जब जगह तलाश की तो उन्हें प्रशासन की ओर से गांव के स्कूल के लिए दी गई वह जमीन नजर आई जिस पर गांव के ही लोगों ने अतिक्रमण कर रखा था। समिति की पहल पर ग्रामीणों ने बिना किसी आपत्ति के खेल मैदान के लिए जमीन देने का प्रस्ताव पास कर अपने-अपने अतिक्रमण हटा लिए।

सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने के साथ ही गांव के ग्रामीण अपने स्तर पर ही खेल मैदान बनाने में जुट गए हैं। भीषण गर्मी के दौरान ग्रामीण जेसीबी और ट्रैक्टर की सहायता से उबड़-खाबड़ जमीन को समतल करने में लगे हुए हैं। गांव से खेल मैदान तक के लिए ग्रामीणों ने 25 फुट का पक्का रास्ता तैयार किया है।