डामर और सीसी सड़कें तोड़ी:ग्रामीणों के लिए आफत बनी योजना, सड़कें खुर्द बुर्द होने से आमजन परेशान

आसपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आसपुर में सोम कमला आम्बा की फ्लोराइड मुक्त पेयजल योजना के तहत घर घर नल कनेक्शन योजना का काम इन दिनों ग्रामीण क्षेत्रो जोर शोर से चल रहा है। एक और ग्रामीणों को खुशी है कि अब घर बैठे पानी ले सकेंगे, लेकिन इस दौरान कुछ समय पहले ही बनी सीसी और डामर कीस सड़कों को खुर्द बुर्द कर दिया है। सोम कमला आंबा बांध से 151 गांवो में शुद्ध पेयजल पहुंचाने के लिए विभाग ने टेंडर प्रक्रिया कर ठेका दिया, लेकिन ग्रामीणों का आरोप है कि ठेकेदारों ने नियम ताक में रखकर पाइप लाइन बिछाने के लिए ग्रामीण क्षेत्र की सीसी सड़को को पूरी तरह खुर्द बुर्द कर दिया है। जिसके चलते पाइप लाइन तो बिछा दी, लेकिन टूटी सड़को पर सफर करना ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्राम पंचायत कतिसोर के खुमानपुर में पाइप लाइन डालने के लिए बीचों बीच सीसी सड़क को खोद दी गई है। इसके बाद उपर मिट्टी और कंटरीट डालकर भर दिया है। वहीं बड़लिया ग्राम पंचायत के गड़ा कुम्हारिया में सड़क किनारे खुदाई के बाद मिट्टी से पाट दिया गया है। गांव की सड़कों के टूट जाने से लोगो को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

नियम कायदे ताक पर
ग्रामीणों का कहना है कि घर घर नल कनेक्शन योजना के तहत सड़क से तीन फीट की दूरी पर खुदाई करनी है, ऐसे में ठेका कार्मिको द्वारा नियमो को ताक में रखते हुए सड़क के पास ही खुदाई कर लाइन बिछाकर खड्डों को पुनः मिट्टी भरकर पाट दिया गया है। जिसके चलते इन दिनों हो रही बारिश के चलते मिट्टी धंस जाने से वाहन चालको को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इन गांव में चल रहा है कार्य
कतिसोर के खुमांनपुर, टोपिया, नांदली अहाडा, लापिया बड़लिया ग्राम पंचायत के गड़ा सिहालिया, गड़ा कुम्हारिया और मोवाई ग्राम पंचायत के मोवाई मोड़ से गढ़ी नवलसिंह में कार्य के तहत सीसी सड़क सहित डामर सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है। वहीं गड़ा सिहालिया गांव को जोड़ने वाली डामर सड़क एक वर्ष पूर्व ही बनी थी। वहीं सड़क के पास खुदाई के चलते सड़क का डामर भी उखड़ गया है। ऐसे में विभागीय अधिकारियों की कार्य के प्रति लापरवाही भी दिख रही है। अधिकारियों की अनदेखी के चलते ठेकाकर्मियों ने सब नियम कायदे ताक पर रखते हुए पाइप लाइन बिछा दी।

इनका ये कहना
वैसे सड़कें रिपेयरिंग ठेकेदार को ही करनी है। एक बार मैं स्टेटस देख लेता हूं। आप एक बार एईएन से बात कर लीजिए।
लोकेश निमावत, एक्सईएन, पेयजल मिशन, बांसवाड़ा

खबरें और भी हैं...