पिकअप चाेरी का खुलासा:आराेपी के खिलाफ गुजरात-राजस्थान में 17 केस

डूंगरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

20 जून की रात काे शहर के मुख्य मार्ग कलेक्ट्रेट राेड पर जिला कारागृह के सामने से एक ठेकेदार की बोलेराे जीप चोरी हो गई थी। काेतवाली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज व तकनीक की सहायता से बाेलेराे जीप काे बरामद कर लिया है। आराेपी काे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इसके खिलाफ राजस्थान व गुजरात में 17 प्रकरण दर्ज हाेने की बात सामने आई है। पूछताछ में सामने आया कि आराेपी पिकअप चाेरी की वारदात करने के बाद अन्य वारदात के लिए इस पिकअप का इस्तेमाल करता था। हैड कांस्टेबल धर्मेंद्र सिंह व मगन सिंह ने सीसीटीवी फुटेज काे कड़ी से कड़ी मिला कर आराेपी उदयपुर जिले के जावर माइंस थाना क्षेत्र के नेवातलाई लिम्बाेदरा निवासी सुनील पुत्र शंकरलाल काे पकड़ने में सफलता हासिल की।

गुजरात व राजस्थान में 17 प्रकरण दर्ज है। इसमें पिकअप चाेरी का प्रकरण भी शामिल है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने आराेपी ​​​​​​​काे पकड़ने के लिए उदयपुर जिले में कई जगह पर दबिश दी, तब जाकर इसे गिरफ्तार किया।

यह था मामला

शहर के मुख्य मार्ग कलेक्ट्रेट के जिला कारागृह के सामने से एक ठेकेदार की विभाग के आहते में खडी बोलेरे जीप चोरी हो गई थी। इस संबंध में परिवादी ने कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। हरिशंकर पटेल सार्वजनिक लाेक निर्माण विभाग के कार्य करने का ठेका लेता है।

साेमवार रात काे उसने अपनी एक नई व पुरानी जीप जिला कारागृह के सामने स्थित लोक निर्माण विभाग के आहते में खडी की थी। मध्यरात्रि के पश्चात वहां साेए चौकीदार ने देखा कि जब दो जीपो में से एक जीप वहां नहीं थी। इस पर उसने हरीशंकर पटेल को जानकारी दी।

मौके पर पहुंचे और अपने वाहन की कई स्थानों पर तलाश की लेकिन नहीं मिलने पर उसने मंगलवार को कोतवाली थाने में अपनी जीप चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इस पर पुलिस ने जांच शुरु कर पिकअप काे बरामद किया।

खबरें और भी हैं...