साइबर अपराध:केवाईसी अपडेट के नाम पर 40 हजार ठगे, वापस दिलाए

डूंगरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केवाईसी अपडेट के नाम पर 40 हजार की साइबर ठगी का मामला डूंगरपुर पुलिस के सामने अाया। साइबर सैल ने मामले की जांच करते हुए 40 हजार की राशि रिफंड कराई। दरअसल, एसपी कार्यालय में एक व्यक्ति ने रिपोर्ट देकर बताया कि अज्ञात व्यक्ति ने बैंक मैनेजर के पद का हवाला देते हुए कॉल किया कि आपके बैंक खाते में केवाईसी अपडेट कराने की जरूरत है।

नहीं तो आपका खाता हमेशा के लिये ब्लॉक कर दिया जाएगा। उसने बताया कि आपको सिर्फ एक एप्लीकेशन एनी डेस्क प्लेस्टोर पर जाकर डाउनलोड करनी है। इंस्टाल करने के बाद रजिस्ट्रेशन कराना है। इस पर परिवादी उसके झांसे में आ गया। एनी डेस्क एप डाउनलोड कर लिया। बैंक अकाउंट से 40 हजार रुपये की राशि निकलने का मैसेज आया। परिवादी काे ठगी का अहसास हाेने पर पुलिस काे मामले से अवगत कराया।

साइबर सैल में कार्यरत हेमेन्द्र सिंह ने त्वरित कार्रवाई कर पूरी राशि खाते में रिफंड कराई। एसपी राशि डाेगरा ने बताया कि किसी भी अनजान व्यक्ति के बहकावे में आकर रिमाेट एप्लीकेशन जैसे एनी डेस्क, टीम व्यूअर काे डाउनलाेड नहीं करें। यह रिमाेट एप्लीकेशन माेबाइल, डिवाइस काे दूसरे से कनेक्ट करने का माध्यम है, परंतु साइबर ठगाें की ओर से एप्लीकेशन का दुरुपयाेग किया जाता है।

इसलिए सावधान रहे। साइबर ठगी हाेने पर 1930 नंबर पर काॅल करें। यह नंबर व्यस्त आने पर भी लगातार काॅल कर शिकायत अवश्य दर्ज कराए। साइबर सैल ने बताया कि पीड़ित के नाम गाेपनीय रखने की चाह पर नाम काे गाेपनीय रखा जाएगा। साइबर ठगी के पीड़ित व्यक्ति साइबर सैल के कांस्टेबल हेमेेंद्र सिंह के नंबर 8107980674 , अभिषेक के 9462409858, राहुल के 9660886787व जाेगेंद्र के 9610714473 माेबाइल नंबर पर संपर्क कर शिकायत बता सकते हैं।

खबरें और भी हैं...