मरीज परेशान:कर्मचारी को दूसरी जगह लगाया, मरीज परेशानी में

कुआं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजकीय आयुर्वेदिक औष्धलय कुआं मे ताले लगे होने व चिकित्सालय परिसर के आगे दरवाजे तक घास-फुस व जंगली झांडियां लगी होने से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि कई महीनों से चिकित्सालय को खोला ही नहीं गया हाे।

दरवाजे पर चस्पा किए मोबाइल नम्बर पर लाेगाें ने बात की तो नियुक्त कम्पाउंडर गोविन्द से जानकारी मिली कि विभाग ने उसे गलियकोट आयुर्वेदिक चिकित्सालय मे प्रतिनियुक्त कर दिया है। कुआं चिकित्सालय में डूंगरसारण आयुर्वेदिक चिकित्सालय मे नियुक्त कम्पाउंडर मोतीलाल पारगी को अतिरिक्‍त प्रभार पर सप्ताह मे दो दिन मंगलवार व गुरुवार के लिए व्यवस्था संभालने का जिम्मा दिया है।

इससे इलाज के लिए आने वाले मरीजों को जरूरत पर इलाज नसीब नही हो रहा है। इससे मजबूरी मे एलोपैथिक इलाज करना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों ने मांग की है विभाग प्रतिदिन चिकित्सालय को खोलने व डॉक्टर, स्टाफ आदि के पद कई वर्षों से रिक्त है। उनको भी नियुक्त करें।

वर्तमान मे खंडहर के रुप हो चुके आयुर्वेदिक भवन को नया भवन बनाने की पहल करने की मांग की है। लंबे समय से डाॅक्टर का रिक्त पद भरने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...