पूर्व विधायक सुरेंद्र बामणिया का खोड़निया पर गंभीर आरोप:बोले- विरोध करने पर पुलिस प्रशासन से बनाया जाता है दबाव

डूंगरपुर4 महीने पहले
सागवाड़ा के पूर्व विधायक सुरेंद्र बामणिया ने दिनेश खोड़निया पर दबाव की राजनीति करने का आरोप लगाया। - Dainik Bhaskar
सागवाड़ा के पूर्व विधायक सुरेंद्र बामणिया ने दिनेश खोड़निया पर दबाव की राजनीति करने का आरोप लगाया।

डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा के बाद अब सागवाड़ा के पूर्व विधायक और अन्य नेताओं ने भी कांग्रेस के निवर्तमान जिलाध्यक्ष दिनेश खोड़निया के विरोध में आवाज उठाई है। पूर्व विधायक सुरेंद्र बामणिया समेत कई कांग्रेस नेताओं ने खोड़निया पर गंभीर आरोप लगाए हैं। बामणिया और दूसरे नेताओं ने डूंगरपुर सहित पूरे उदयपुर संभाग में कांग्रेस की दुर्दशा के लिए खोड़निया को जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि खोड़निया पहले ही सभी आरोपों को नकार चुके हैं।

सुरेंद्र बामणिया ने डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का विरोध जताते हुए कहा कि घोघरा का बढ़ता कद घटाने के लिए ये सब किया जा रहा है, जबकि घोघरा गरीब जनता के लिए लड़ाई लड़ रहे थे। घोघरा के बढ़ते कद को देखते हुए अब उन्हें दबाने का काम किया जा रहा है। डूंगरपुर जिले को कौन चला रहा है, प्रशासनिक अधिकारी किसकी सुनते हैं, यह सबको पता है। सत्ताधारी विधायक को अपने काम के लिए धरने पर बैठना पड़ रहा है तो आम कार्यकर्ताओं की क्या हालत है, यह सबको पता है। उन्होंने कहा कि घोघरा के साथ जो हुआ वो तो सागवाड़ा के कार्यकर्ता तीन साल से भुगत रहे हैं।

आम जनता की नहीं सुन रहे हैं अधिकारी
सुरेंद्र बामनिया ने दिनेश खोड़निया पर दबाव की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसा लग रहा है कि यहां सरकारी अधिकारी नहीं, बल्कि किसी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के अधिकारी काम कर रहे हैं। सुनवाई नहीं होने से क्षेत्र की जनता और कांग्रेस कार्यकर्ता पीड़ित है। सभी विभाग के अधिकारी दबाव में हैं। खोड़निया के विरोध में जाने वाले पर पुलिस प्रशासन से दबाव बनाया जाता है, जो कांग्रेस और क्षेत्र की जनता के लिए घातक है। सागवाड़ा ब्लॉक अध्यक्ष देवीलाल फलोत ने कहा कि यहां संगठन नाम की कोई चीज नहीं है। कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष सुरेश पाटीदार ने कहा कि संगठन कमजोर हो रहा है। बड़ो की लड़ाई में सुनवाई नहीं हो रही है। स्थिति यह है कि मैं मेरा इस्तीफा जेब में लेकर घूम रहा हूं।

मैं खोड़निया के रिमोट से चलने वाला नेता नहीं- बामणिया
सागवाड़ा के पूर्व विधायक सुरेंद्र बामणिया ने कहा कि कांग्रेस के जिलाध्यक्ष दिनेश खोड़निया सभी को अपने कंटोल में रखना चाहते हैं, लेकिन मैं उनके रिमोट पर चलने वाला नहीं हूं। घोघरा ने भी इसका विरोध किया है। बांसवाड़ा के हमारे दो बड़े नेता उनके रिमोट कंट्रोल पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा की राज्यसभा में कौन जाएगा, यह आलाकमान तय करेगा। यहां हम अपनी बात रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्ति को राज्यसभा में भेजा जाए, जिसका कोई जनाधार हो। ऐसे व्यक्ति को नहीं भेजा जाए, जिससे कांग्रेस को खतरा हो।