नैक की ग्रेडिंग मुश्किल:रिपोर्ट के 70 और निरीक्षण के 30 अंक

डूंगरपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कॉलेज और यूनिवर्सिटी के लिए अब यूजीसी की नैक की ग्रेड लेना आसान नहीं है। नए नियमों में जियो टैग फोटो, विद्यार्थियों के ई-मेल और कोर्स के अलावा पांच साल के खरीदी के बिल-वाउचर, प्रोजेक्ट की स्थिति पर रिपोर्ट मांगनी शुरू कर दी है। इस रिपोर्ट के 70 अंक मिलेंगे,

जबकि संस्थानों का निरीक्षण करने वाली नैक टीम सिर्फ 30 प्रतिशत अंक मिलेंगे। सभी सरकारी-निजी कॉलेज, केंद्रीय-राज्य स्तरीय यूनिवर्सिटी को नैक ग्रेडिंग लेनी जरूरी है। जीजीटीयू के पूर्व कुलपति प्रो. कैलाश सोडानी के अनुसार यूजीसी ने पुराने नियमों में संशोधन कर बदलाव किए हैं।

यह हैं खास नए नियम {मुख्य भवन-कमरों की स्थिति दिखाने के लिए जियो टैग फोटो देने होंगे। कैंपस में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के ई-मेल (अनिवार्य) है। पांच साल में हुई खरीद-फरोख्त के सील युक्त बिल-फोटो प्रति सहित देनी होगी। साइंस लैब में उपकरणों की फोटो,

कोर्स में इनका इस्तेमाल , शिक्षकों के रिसर्च पेपर, यूजीसी के प्रोजेक्ट की स्थिति, रूसा में मिले बजट की उपयोगिता (बिल-वाउचर समेत), इंटरनेट से जुड़ी ओएफसी केबल की क्वालिटी रिपोर्ट, कैंपस में विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन शिक्षण-सुविधाओं की जानकारी देनी होगी।

खबरें और भी हैं...