डूंगरपुर में 10 साल की नाबालिग का हत्यारा गिरफ्तार:रेप की कोशिश के बाद गला दबाकर मार डाला, DNA टेस्ट करवाया

डूंगरपुर5 महीने पहले
प्रशासन ने मासूम के अंतिम संस्कार करने को लेकर समझाइश की और आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भी भरोसा दिलाया।

डूंगरपुर में 10 साल की नाबालिग का न्यूड शव मिलने के मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने वारदात करना कबूल कर लिया है। आरोपी रात को नाबालिग को घर से उठाकर पुलिया के नीचे ले गया था और उसके साथ रेप करने की कोशिश की। इस दौरान नाबालिग नींद से उठ गई और उसको पहचान लिया। लोगों को बताने के डर से उसने नाबालिग का मर्डर कर दिया और पुलिया के नीचे पत्थरों के बीच दबाकर भाग गया। आरोपी पूर्व सरपंच का पोता है और पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

एसपी राशी डोगरा डूडी ने बताया कि 10 साल की नाबालिग मासूम की मां ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी, जिसमें बताया कि 28 जून की रात को नाबालिग बेटी घर में घर के आंगन में सोई थी। सुबह वह उठी तो नाबालिग बेटी चारपाई पर नहीं थी। 29 जून की देर शाम को उसका शव गांव में एक पुलिया के नीचे न्यूड हालत में लहूलुहान मिला था। घटना के बाद से परिजन पूर्व सरपंच लक्ष्मण कटारा के पोते जितेंद्र उर्फ जीतू पुत्र नारायण कटारा पर किडनैप, रेप और हत्या करने का आरोप लगा रहे थे। एएसपी अनिल मीणा ने बताया कि मां की रिपोर्ट पर मामले की जांच शुरू करते हुए आरोपी जितेंद्र उर्फ जीतू को डिटेन कर पूछताछ की गई। आरोपी नाबालिग के किडनैप, रेप और हत्या से मना करता रहा। इस पर पुलिस ने आरोपी का डीएनए टेस्ट करवाया। नाबालिग की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप की कोशिश के बाद गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई।

डीएसपी राकेश कुमार शर्मा ने बताया कि टेक्निकल सबूत में पुष्टि होने के बाद आरोपी जितेंद्र उर्फ जीतू से फिर पूछताछ की गई तो आरोपी ने वारदात करना कबूल कर लिया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि 28 जून को दिनभर शराब पी और रात के समय नाबालिग को उठाकर पुलिया के नीचे ले जाकर रेप की कोशिश की। इस दौरान नाबालिग नींद से उठ गई और उसको पहचान लिया। लोगों को बताने के डर से उसने नाबालिग का गला दबाकर मर्डर कर दिया और पुलिया के नीचे पत्थरों के बीच दबाकर भाग गया। इस दौरान गांव के किसी व्यक्ति ने जितेंद्र को बीयर की बोतल लिए पुलिया के नीचे देखा था।

पोस्टमार्टम के बाद भी मोर्चरी में पड़ा है शव
घटना को 80 घंटे से ज्यादा समय होने के बाद भी नाबालिग का शव मोर्चरी में पड़ा है। परिजन आरोपी की गिरफ्तारी करने की मांग को लेकर अड़े थे, जिसके कारण पोस्टमार्टम के बाद भी शव का अंतिम संस्कार नहीं हो सका। मृतक और आरोपी के परिवार के बीच समझौते को लेकर 4 दिनों तक वार्ता के बाद भी कोई फैसला नहीं हुआ। ऐसे में गांव में तनाव के माहौल को देखते हुए पुलिस टीम तैनात की गई है। शनिवार देर शाम को प्रशासन ने मासूम के अंतिम संस्कार करने को लेकर समझाइश की और आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भी भरोसा दिलाया। इसके बाद परिजन मान गए और आज अंतिम संस्कार होगा।

रेप के बाद नाबालिग लड़की का मर्डर:न्यूड बॉडी मिली, प्रावइेट पार्ट से हो रही थी ब्लीडिंग; पूर्व सरपंच के पोते पर FIR